इंटरनेट क्या है? जानिए इंटरनेट कैसे काम करता है पूरी जानकारी हिंदी में

0
210
इंटरनेट क्या है?
इंटरनेट क्या है?

नमस्कार दोस्तों, एक बार फिर से आपका स्वागत है इस आर्टिकल इंटरनेट क्या है?(internet kya hai) में हम Internet से जुड़ी सभी जानकारी हिंदी में प्राप्त करेगे

दोस्तों, आज के समय में इंटरनेट सभी कि मूलभूत आवक्श्यकता (Fundamental Need) बन चुका है. जिसके बिना जीवन की कल्पना भी करना मुश्किल है वर्तमान समय में इन्टरनेट का महत्व इतना अधिक बढ़ गया है कि आजकल लगभग हर कार्य internet के माध्यम से होने लगे है पढ़ाई से लेकर बिज़नस या नौकरी या shopping जो भी हो सभी कार्य internet के माध्यम से ही हो रहे है

आप इस article को पढ़ रहे है तो ये भी आपका mobile या computer internet से कनेक्ट है तभी पढ़ पा रहे है लोग इन्टरनेट का उपयोग तो सभी करते है लेकिन बहुत से लोगो को ये पता नहीं होता है कि इंटरनेट क्या है? internet kya hai (What is Internet in Hindi)? इंटरनेट की परिभाषा, इंटरनेट कैसे काम करता है ,इंटरनेट को किसने बनाया?, इंटरनेट का मालिक कौन है?,internet ke labh aur hani in hindi आदि तो ये सभी question लोग google पर सर्च करते है तो आज इस आर्टिकल के द्वारा हम इंटरनेट के बारे में जानकारी दे रहे है तो आइये शुरू करते है :-

इंटरनेट क्या है? | इंटरनेट कैसे काम करता है?

बहुत-से लोग Internet और World Wide Web (WWW) को एक ही समझते है। लेकिन हम आपको बता दे कि ऐसा नहीं है। क्योंकि इंटरनेट बहुत ही बड़ा और व्यापक नेटवर्क है। जबकि WWW इस Internet नेटवर्क का एक हिस्सा है। यानि कि इंटरनेट विश्व भर के Computers को आपस में जोड़कर एक व्यापक Network बनाता है। जिससे डिजिटल जानकारी का आदान-प्रदान करना काफी आसान हो जाता है।

इंटरनेट क्या है? internet kya hai

इंटरनेट क्या है :- इंटरनेट, शब्द दो शब्दों से मिलकर बना है Inter और Net। अर्थात , नेटवर्कों के बीच। अर्थात इंटरनेट एक व्यापक नेटवर्क है जो दुनिया भर में कंपनियों, सरकारों, विश्वविद्यालयों और अन्य संगठनों द्वारा चलाए जा रहे कंप्यूटर नेटवर्क को एक दूसरे से बात करने की अनुमति देता है। यह cables, computers, data centres, routers, servers, repeaters, satellites और wifi towers का एक समूह है जो डिजिटल जानकारी को दुनिया भर में यात्रा करने की अनुमति देता है।

यह एक infrastructure (बुनियादी ढांचा) है जो आपको ईमेल, मैसेजिंग, वेब ब्राउजिंग, ऑनलाइन शॉपिंग, वीडियो स्ट्रीमिंग करने और दुनिया कि छोटी से छोटी जानकारी वेब पर खोज करने देता है। इंटरनेट क्या है? अगर सरल शब्दों में कहें तो इंटरनेट के माध्यम से हम अपने घर बैठे दुनिया कि जानकारी प्राप्त कर सकते हैं

इसमें कुछ वायरिंग लगती है। द्वीपों और महाद्वीपों को जोड़ने के लिए सैकड़ों-हजारों मील केबल क्रॉस-क्रॉस देशों, और अधिक समुद्र तल के साथ बिछाए गए हैं। लगभग 300 पनडुब्बी केबल, गहरे समुद्र में केवल एक बगीचे की नली जितनी मोटी, आधुनिक इंटरनेट का आधार है। अधिकांश बाल जैसे पतले फाइबर ऑप्टिक्स के बंडल हैं जो प्रकाश की गति से डेटा ले जाते हैं।

आज Internet के माध्यम से हम हमारे रोजमर्रा के पता नि कितने ही काम घर बैठे आसानी से कर सकते हैं। जैसे Electricity Bill भरना, shopping करना, Mobile Recharge करना , Banking सम्बन्धी कार्य आदि। लेकिन आजकल इससे भी ज्यादा Internet का उपयोग Chating, Messaging, Browsing और मनोरंजन के लिए होता हैं। यानि कि Internet अब हमारी दिनचर्या का महत्वपूर्ण हिस्सा बन चूका है।

इन्टरनेट पर मौजूद जानकारी को देखने के लिए हमें वेब ब्राउज़र (Web Browser) का उपयोग करना होता हैं, ये वेब ब्राउज़र client program होते है तथा हायपर टेक्स्ट documents को प्रदर्शित करने में सक्षम होते है | वेब ब्राउजर का उपयोग कर हम इन्टरनेट पर मौजूद विभिन्न सेवाओ का उपयोग आसानी से कर सकते है |

यह भी पढ़े :- PNG का फुल फॉर्म क्या है?

इन्टरनेट का इतिहास (History of Internet)

मूलतः इन्टरनेट का सर्वप्रथम उपयोग अमेरिकि सेना के लिए किया गया था शीत युद्ध के समय अमरीका कि सेना एक बड़ी और विश्वसनीय संचार सेवा चाहती थी | तो सन 1969 में अमेरिका के रक्षा विभाग में Advance Research Project Agency ARPA के नाम से एक नेटवर्क बनाया गया जो 4 computer कि मदद से बनाया गया अर्थात 4 computer को आपस में जोड़कर एक नेटवर्क बनाया गया उस नेटवर्क को उस वक़्त ARPANET के नाम से जाना जाता था इस नेटवर्क का इस्तेमाल गोपनीय सूचनाये आदान – प्रदान करने के लिए किया जाता था ।

इस नेटवर्क ने कई सैन्य सलाहकारों , वैज्ञानिकों और अनुसंधानकर्ताओं को जोड़ा गया। जो Electronic Mail यानि Email के माध्यम से तीव्र गति से सूचनाओं का आदान – प्रदान कर सकते थे । इसकी तीव्र गति के कारण इस नेटवर्क कि लोकप्रियता तेजी से बढने लगी 1972 तक इस नेटवर्क में कंप्यूटर की संख्या 37 हो गई थी 1973 तक इंग्लैंड और नार्वे तक इसका विस्तार हो गया था | 1974 में Arpanet नेटवर्क लोगो के लिए उपयोग में लाया गया, जिसे टेलनेट नाम दिया गया | 1982 में नेटवर्क के लिए कुछ नियम बनाये गए जिसे प्रोटोकॉल कहा जाता है इन Protocol को ही TCP/IP (Transmission control protocol/Internet Protocol) के नाम से जाना गया था|

धीरे धीरे यह नेटवर्क बहुत ही लोकप्रिय होता गया और उसके परिणामस्वरूप 1984 तक एक हजार से भी ज्यादा Personal Computers इस नेटवर्क से जुड़ गए । फिर 1986 में National Science Foundation ने अपने 5 Sumer computers के नेटवर्क को भी इसमें जोड़ लिया। उसके बाद इसका नाम बदलकर NSFnet कर दिया गया। NSFnet 1995 तक इस नेटवर्क का हिस्सा रही। और 1995 में खुद को इस नेटवर्क से अलग कर लिया। तब नेटवर्क कंपनियों और कमर्शियल फर्मों ने यह जिम्मेदारी संभाली। जिसमें टेलीफोन कंपनियां, केबल कंपनियां और सैटेलाइट कंपनियां आदि शामिल थीं।

इंटरनेट कैसे काम करता हैं – How Internet Work in Hindi?

हमने यह तो जान लिया कि इंटरनेट क्या है? (internet kya hai) और इन्टरनेट का इतिहास क्या है लेकिन अब अब प्रश्न उठता है कि इंटरनेट कैसे काम करता हैंHow Does Internet Work in Hindi?, इंटरनेट का काम करने तरीका क्या हैं? इंटरनेट से कम्प्यूटर कैसे कनेक्ट होते हैं? तो आइये अब ये जानते है

इंटरनेट कैसे काम करता हैं
इंटरनेट कैसे काम करता हैं

How Internet works in Hindi

अगर सरल शब्दों में कहें कि इंटरनेट क्या है? तो इंटरनेट मतलब Data । इतना सारा डाटा कि जिसे हम Imagine भी नहीं कर सकते और ये डाटा अनगिनत Computers से send और Receive होता रहता है तो अब question यह है कि इंटरनेट कैसे काम करता हैं

अब आपके दिमाग में ये आया होगा कि ये information Data center से सेटेलाइट पर भेजी जाती है और सेटेलाइट से हमारे Mobile या computer तक आती है लेकिन हम आपको बता दे ऐसा बिल्कुल नही है और ये इसीलिए नहीं होता है क्योंकि ये सेटेलाइट पृथ्वी से बहुत ज्यादा ऊचाई पर होते है लगभग 3000 किलोमीटर ऊपर तो Data center से डाटा सेटेलाइट पर भेजने में और सेटेलाइट से हमारे mobile या computer तक आने में काफी वक़्त लग जाएगा

तो फिर आप कहोगे ये डाटा हम तक आता कैसे है तो ये Data हम तक Optical Fiber Cable के माध्यम से आता है अब आप सोचेगे लेकिन हमारे mobile से तो कोई CABLE Connect ही नहीं होती है तो हम आपको बता दे Optical केबल आपसे mobile से नहीं लेकिन आपके mobile के tower से जुडी होती है और ये tower Optical Fiber से आने वाले signals को electromagnetic signals में Convert कर देता है जो signals आपके mobile तक पहुचते है

लेकिन internet को करोड़ो user एक साथ use करते है तो ये कैसे पता लगेगा कि कोनसा डाटा कहा भेजना और कहा से Receive करना है तो इसके लिए IP address का use किया जाता है हर एक device जो internet से जुडा होता है जैसे mobile, computer, laptop आदि सभी का अपना एक unique IP address होता है जिसके माध्यम से डाटा को सही जगह पहुचाया जाता है।

यह भी पढ़े:- GIF full form | GIF का Full Form क्या है?
Bonafide Certificate क्या होता हैं?

इंटरनेट के लाभ क्या है – Advantages of Internet in Hindi

  1. इंटरनेट के माध्यम से हम विभिन्न प्रकार की ऑनलाइन सेवाएँ use करने में सक्षम हो पाते हैं
  2. इंटरनेट के माध्यम से आधार कार्ड, पैन कार्ड, राशन कार्ड, वोटर आईडी कार्ड जैसे महत्वपूर्ण दस्तावेज ऑनलाइन बनवा सकते है तथा मंगवा सकते है.
  3. इंटरनेट के माध्यम से सोशल मीडिया साइट्स के जरिए अपने परिवारजन, रिश्तेदार, दोस्त, कलिग्स के साथ connect रह सकते है और आपस में बात कर सकते है तथा Photos, Videos तथा Files Share भी कर सकते है
  4. इंटरनेट के माध्यम से हम हमारे पानी का बिल, बिजली का बिल, ट्रैन टिकट, होटल बुकिंग, टैक्सी बुकिंग आदि सभी कार्य अपने mobile या computer से कर सकते है.
  5. इंटरनेट के माध्यम से कॉलेज एडमिशन लेना, प्रतियोगी परिक्षाओं के फॉर्म भरना, स्कॉलरशिप के फॉर्म जमा कराना जैसे कार्य आसानी से किये जा सकते है.
  6. हमें किसी एक Topic के बारे में कुछ जानकारी चाहिये तो हम internet के माध्यम से आसानी से विस्तृत में जानकारी प्राप्त कर सकते है
  7. यदि आपको नयी जॉब ढूंढना है या जॉब के लिए apply करना है तो भी आप internet कि मदद से आसानी से कर सकते है
  8. यदि बैंकिंग कार्य भी करना है तो हम internet के माध्यम से आसानी से कर सकते है
  9. internet के जरिये आप online shopping कर कोई भी चीज घर बेठे आसानी से मंगवा सकते है

यह कुछ महत्वपूर्ण लाभ कि जानकारी हमने आपको दी है इसके अलावा भी internet के बहुत सारे लाभ है internet तो सूचनाओ का महासागर है और हर कार्य internet के माध्यम से आसानी से किया जा सकता है लेकिन हर चीज के 2 पहलु होते है जहा internet के बहुत सारे लाभ है वही इसकी कुछ हानिया भी है तो आइये जानते है इंटरनेट के नुकसान क्या है?

इंटरनेट के नुकसान क्या है Disadvantages of Internet in Hindi

  1. समय की बर्बादी – Internet का सबसे बड़ा नुकसान है समय की बर्बादी यदि आप internet पर भटक गये या किसी चीज को ढूंडने लगे तो हो सकता है आपके घंटो बर्बाद हो जाये लेकिन आपको सही जानकारी या चीज नहीं मिल पाति है
  2. मुफ्त नहीं – इंटरनेट से समय कि बर्बादी तो होती ही है साथ ही यह मुफ्त भी नहीं है और अब सभी कि मुलभुत आवक्श्यकता भी हो गया है तो internet कि जरूरत को पूरा करने के लिए आपको पैसे भी खर्च करने पड़ेगे तभी आप इंटरनेट का उपयोग कर सकते हो अर्थात समय की बर्बादी के साथ साथ internet से पैसे कि बर्बादी भी होती है
  3. प्राइवेसी को नुकसान – internet पर सबसे बड़ी समस्या जो आज सामने आ रही है वह प्राइवेसी है कुछ लोग किसी लोगो का निजी डेटा चुराकर बेच देते है इससे बचना बहुत जरुरी है कुछ hackers द्वारा लोगो का डाटा चुराकर उसका गलत इस्तेमाल भी किया जाता है
  4. वायरस हमला – आपके कम्प्यूटर, मोबाइल में वायरस आने का खतरा भी रहता है जिससे आपके डाटा के lose होने का खतरा रहता है
  5. बैंकिंग fraud – internet पर हम कुछ भी shopping करते है या कही भी हमारे Credit card या Debit card का use करते है तो बहुत बार hackers card कि डिटेल्स चुरा कर bank account को खली कर देते है|

इंटरनेट क्या है? Conclusion

तो दोस्तो ये था हमारा आज का article इंटरनेट क्या है? जिसमें हमने internet के बारे में विस्तृत जानकारी प्राप्त कि

दोस्तों उम्मीद करता हूं कि आपको इस आर्टिकल के माध्यम से समझ आ गया होगा कि इंटरनेट क्या है? अगर आपको हमारे इस article इंटरनेट क्या है? | internet kya hai ? से संबंधित कोई भी परेशानी या सुझाव है तो आप बेझिझक हमसे संपर्क कर सकते है या आप इंटरनेट क्या है? के इस पोस्ट पर कॉमेंट भी कर सकते है।

दोस्तों अगर आपको हमारा ये article इंटरनेट क्या है? अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ Facebook और Whatsapp पे शेयर जरुर करियेगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here