ISI Mark Kya Hai – ISI Full Form, ISI Mark कि सभी जानकारी हिंदी में

0
257
ISI Mark Kya Hai
ISI Mark Kya Hai

नमस्कार दोस्तों, एक बार फिर से आपका स्वागत है इस आर्टिकल ISI Mark Kya Hai | ISI Mark क्या है? में । इस article में हम ISI Mark क्या है? से जुड़ी सभी जानकारी हिंदी में प्राप्त करेगे जैसे ISI Mark Kya Hai, ISI Full Form kya Hai, आईएसआई मार्क की फुल फॉर्म क्या है, आईएसआई मार्क क्यों जरूरी है, आईएसआई मार्क किस को प्रदान किया जाता है आदि

आप लोग आये दिन ISI MARK के बारे में सुनते होगे तो आप भी यह जरुर जानना चाहते होंगे कि आखिर ये ISI Mark क्या है? जब भी आप बाजार में कोई सामान खरीदने जाते है जैसे गैस चूल्हा या गैस रेगुलेटर या कुछ और तो वहां आपको प्रोडक्ट के बॉक्स पर ISI Mark देखने को मिलता है और दुकानदार भी आपसे बोलता होगा कि इसपे ISI Mark लगा हुआ है आप ये सामान लो ये अच्छा है

लेकिन अगर आपको ISI Mark के बारे में पता नहीं होता है कि ISI Mark क्या है? तो आप यहीं सोचते होगे की ये ISI Mark क्या है? ISI Mark वाला सामान दुसरे सामान से अच्छा क्यों है तो आज हम आपको यही बताने जा रहे हैं यदि आप भी ISI Mark Kya Hai से जुड़ी सभी जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो ये article आपके लिए ही है पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए लास्ट तक पड़ते रहिये तो आइये शुरू करते है:-

ISI Mark Kya Hai – ISI Full Form

ISI Mark Kya Hai | ISI Full Form kya Hai | isi ka full form kya hai | Indian Standards Institution | आईएसआई मार्क की फुल फॉर्म क्या है | आईएसआई मार्क क्यों जरूरी है | आईएसआई मार्क किस को प्रदान किया जाता है | ISI Mark क्या है

ISI Mark Kya Hai | ISI Mark क्या है?

ISI एक प्रकार का सर्टिफिकेट होता है जो किसी प्रोडक्ट के लिए कंपनी को दिया जाता है। भारत में कई सारी ऐसी सरकारी मानक संस्थान है जो इन प्रोडक्ट को टेस्ट करते है यदि आप कोई प्रोडक्ट बना रहे है और आप भी ये टेस्ट करना चाहते है कि आपका प्रोडक्ट 100 परसेंट Safe है या नहीं और आपका प्रोडक्ट 100 persent quality प्रोडक्ट है

तो आप इन सरकारी मानक संस्थान में आवेदन कर सकते है आवेदन करने के बाद आपको अपना प्रोडक्ट वह submit करना होगा। सरकारी मानक संस्थान कि स्थापना 1955 में हुई यह भारत का सबसे अधिक मान्यता प्राप्त चिन्ह है।

Indian Standards Institution क्या है?

Indian Standards Institution एक प्रकार कि संस्थान है जहा प्रोडक्ट कि जाँच कि जाती है आपका प्रोडक्ट वहा पर हर तरह से टेस्ट किया जाएगा और High Standards से होकर गुजरता है

अर्थात आपके प्रोडक्ट कि बारीकी से जाँच कि जाती है यदि आपका प्रोडक्ट सरकारी मानक संस्थान के द्वारा पास कर दिया जाता है तो आपके प्रोडक्ट के लिए ISI Mark Certificate दे दिया जाता है इसके बाद आप अपने प्रोडक्ट को ISI mark लगाकर बाजार में बेच सकते है ।

भारत में बहुत सारी company ऐसा करती है जब भी वह कोई प्रोडक्ट बनाती है तो वह अपने प्रोडक्ट कि Quality testing के लिए सरकारी मानक संस्थान को आवेदन करती है तथा अपना product वहा testing के लिए भेज जाती है सरकारी मानक संस्थान testing के बाद यदि product पास हो जाता है तो उसे ISI Mark Certificate दे दती है।

इसका सीधा अर्थ ये है कि यह एक प्रकार का certificate होता है, जो BIS (Bureau of Indian standards) के अंतर्गत किसी भी कंपनियों के प्रोडक्ट को test करता है और उस पर ISI hallmark का सिल लगा दिया जाता है।

तो आप ये तो जन चुके होगे कि ISI Mark Kya Hai और इसकी क्या Importance है तो जब भी आप बाजार से कोई सामान खरीदे तो ISI Mark देख कर सामान खरीदे हलाकि सभी सामान पर ISI मार्क नहीं आता है ISI Mark वाले कुछ Products जो मार्केट में मिलते है वह इस प्रकार है Electric Moter, Switches, Cable, Kitchen Gas and Automotive Tire, Cement, Wire आदि

ISI Mark की फुल फॉर्म क्या है? | ISI Full Form kya Hai

ISI का Full Form Indian Standards Institution होता है इसको हिंदी में भारत मानक संस्थान कहा जाता है

I :- Indian
S :- Standards
I :- Institution

ISI Full Form

ISI Full Form
ISI Full Form

आईएसआई मार्क क्यों जरूरी है?

किसी भी प्रोडक्ट कि गुणवत्ता कि जाँच के लिए भारतीय मानक संस्थान कि स्थापना कि गयी कोई भी प्रोडक्ट जब किसी कम्पनी द्वारा निर्माण किया जाता है तो उसकी गुणवत्ता कि जाँच करने का काम Indian Standards Institution द्वारा किया जाता है Indian Standards Institution द्वारा प्रोडक्ट को हर तरह से टेस्ट किया जाता है ताकि यह पता लग सके कि प्रोडक्ट अच्छा है या नहीं ।

यदि किसी प्रोडक्ट को ISI Mark सर्टिफिकेट दिया जाता है मतलब वह प्रोडक्ट उच्च गुणवत्ता वाला है प्रोडक्ट में कोई डिफेक्ट नहीं है अतः ऐसा कहा जा सकता है कि ISI Mark प्रोडक्ट कि अच्छी गुणवत्ता का मार्क है इसलिए ISI Mark जरुरी होता है कि उस प्रोडक्ट को खरीदने वाले व्यक्ति को कोई परेशानी ना हो और वो ISI Mark देख कर निश्चिन्त होकर सामान खरीद सके

ISI MARK किस को प्रदान किया जाता है?

आईएसआई मार्क बीआईएस की अनुमोदित प्रयोगशाला द्वारा अच्छी तरह से जांचने के बाद किसी company के प्रोडक्ट को दिया जाता है। इस प्रक्रिया में आवेदक द्वारा आवेदन पत्र भर कर आवश्यक दस्तावेजों के साथ जमा करना होता है कुछ प्रोडक्ट जिनको ISI Mark Certificate लेना अनिवार्य है उन प्रोडक्ट कि लिस्ट निचे दी गयी है

ISI मार्क पंजीकरण निम्न products के लिए अनिवार्य है

  1. Cement
  2. Steel products
  3. Power transformer
  4. Food products
  5. Cylinder, Valve, and Regulator
  6. Batteries
  7. Capacitor
  8. electric motor
  9. stainless steel plate
  10. Clinical thermometer
  11. Packaged drinking water
  12. Stove
  13. Steel wire and steel sheets
  14. Kitchen के सामान

ISI Mark क्या है? | ISI Mark Kya Hai

यह भी पढ़े :- Bonafide Certificate क्या होता हैं?

आईएसआई मार्क के लाभ

आईएसआई मार्क के बहुत सारे लाभ हैं। आईएसआई के कुछ लाभों की सूची नीचे दी गयी है:

  • यह ग्राहक को निश्चिंत होकर कोई प्रोडक्ट खरीदने में मदद करता है।
  • प्रत्येक ग्राहक के लिए, उत्पाद की सर्वोत्तम गुणवत्ता को यह चिह्न निश्चित करता है। अर्थात यह चिन्ह इस बात का प्रमाण है कि यह प्रोडक्ट उच्च गुणवत्ता वाला है
  • यदि किसी ग्राहक को आईएसआई मार्क वाले उत्पाद से कोई शिकायत है यदि प्रोडक्ट खराब है , तो ग्राहक उस प्रोडक्ट कि company के खिलाफ कार्रवाई भी कर सकता है।
  • इससे किसी उत्पाद के निर्माताओं को अपने व्यवसाय और अधिक विस्तृत करने में help मिलती है।

जांच में किन बातों का ध्यान दिया जाता हैं?

भारतीय मानक संस्थान अर्थात Indian Standard Institute का अपना एक Standard set होता है। Indian Standard Institute products को सभी पैमानों पर test करती हैं।और यह टेस्ट किया जाता है कि, उस प्रोडक्ट से किसी को किसी प्रकार का कोई जन हानी का खतरा तो नहीं।

जैसे गाड़ी के टायर कि बात करे तो उनमे यह देखा जाता है कि, वह टायर कितना मजबूत है। तथा उसे हर तरह से test किया जाता है कि गाड़ी तेज रफ़्तार से चलने पर टायर फटने के Chance तो नहीं है उसी प्रकार प्रेशर कुकर में यह देखा जाता है कि खाना पकाने में यह कितना प्रेशर हैंडल कर सकता है अर्थात फटने कि परख कि जाती है और Electronic products में यह देखा जाता है कि कही से करंट तो लीकेज नहीं हो रहा है और यह लाइट के कितने पॉवर को ले सकता है

Logo को देखकर कैसे करें पहचान

BIS Bureau of Indian standards के अनुसार ISI mark का logo 4:3 कि Size का होना चाहिए। तथा ऊपर प्रोडक्ट नंबर IS से प्रदर्शित होता है। और लाइसेंस नंबर मार्किंग के निचे CM/L के साथ लिखा होता है।

ISI Mark Kya Hai Conclusion

तो दोस्तो ये था हमारा आज का article ISI Mark Kya Hai (ISI Mark क्या हैं?) जिसमें हमने ISI Mark Kya Hai, ISI Full Form kya Hai, आईएसआई मार्क की फुल फॉर्म क्या है, आईएसआई मार्क क्यों जरूरी है, आईएसआई मार्क किस को प्रदान किया जाता है आदि के बारे में जानकारी प्राप्त कि

प्रिय दोस्तों उम्मीद करता हूं कि आपको इस आर्टिकल के माध्यम से समझ आ गया होगा कि आई एस आई मार्क क्या होता है अथवा यह क्यों जरूरी होता है

अगर आपको हमारे इस article ISI Mark Kya Hai (ISI Mark क्या हैं? ) से संबंधित कोई भी परेशानी या सुझाव है तो आप बेझिझक हमसे संपर्क कर सकते है या आप ISI Mark Kya Hai के इस पोस्ट पर कॉमेंट भी कर सकते है।

दोस्तों अगर आपको हमारा ये article ISI Mark Kya Hai अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ Facebook और Whatsapp पे शेयर जरुर करियेगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here