Monitor क्या है Monitor Full Form In Hindi और मॉनिटर कितने प्रकार के होते हैं

0
380
Monitor क्या है
Monitor क्या है

Monitor क्या है | Monitor Kya Hai | Monitor kya hai Monitor ke prakar | Monitor Full Form Kya Hai | Monitor Full Form In Hindi | मॉनिटर कितने प्रकार के होते हैं | Monitor Ke Price Kya Hai | Types Of Monitor | मॉनिटर क्या कार्य करता है | मॉनिटर के प्रकार | History Of Monitors | मॉनिटर का इतिहास

नमस्कार दोस्तों, एक बार फिर से आपका स्वागत है इस आर्टिकल Monitor क्या है में | इसमें हम Monitor kya hai Monitor ke prakar की पूरी जानकारी हिंदी में आपके साथ शेयर करेगे।

दोस्तों आज हम बात करेगे मॉनिटर क्या है और मॉनिटर कितने प्रकार के होते हैं? दोस्तों आज के कंप्यूटर और इन्टरनेट के युग में हर कम कंप्यूटर की मदद से होने लगा है हर जगह आपको कंप्यूटर देखने को मिलेगे और हर जगह टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जा रहा है रोज कुछ नयी टेक्नोलॉजी आ रही है।

आप हर जगह कंप्यूटर तो देखते ही हे तो वहा आपको मॉनिटर भी देखने को मिलते ही है लेकिन क्या आपने सोचा ये मॉनिटर कार्य कैसे करता है और आखिर मॉनिटर में होता क्या है और आपने हर जगह अलग अलग मॉनिटर देखे होगे कही बड़ा कही छोटा तो क्या आपने सोचा है की मॉनिटर कितने प्रकार के होते हैं? तो दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आपको यही सब जानकारी देने वाले है की आखिर ये Monitor Kya Hai और मॉनिटर कितने प्रकार के होते हैं और मॉनिटर का फुल फॉर्म क्या है तो आइये शुरू करते है:-

Monitor kya hai Monitor ke prakar

Monitor क्या है – मॉनिटर क्या है

मॉनिटर एक आउटपुट डिवाइस होता है जो की केबल के माध्यम से CPU से कनेक्ट रहता है Moniter ka full form Mass On Newton Is Train On Rat होता है आज कल बढती टेक्नोलॉजी के साथ मॉनिटर भी अलग अलग तरह तरह के आ रहे है।

आज कल कुछ ऐसे मॉनिटर भी आ गए है जिनमे CPU साथ में ही अटेच रहते है मॉनिटर का कम CPU के द्वारा की गयी प्रोसेस को डिस्प्ले कर के हमें दिखाना होता है मॉनिटर के माध्यम से ही हम CPU द्वारा की गई प्रोसेस को सॉफ्ट कॉपी में देख पाते है यदि मॉनिटर नहीं होगा तो हम कंप्यूटर पर कोई काम नहीं कर सकते है अर्थात हम यह भी कह सकते है की बिना मॉनिटर कंप्यूटर का अस्तित्व ही नहीं है क्यों की मॉनिटर ही हमें दिखता है की हम क्या कार्य कर रहे है और वो सही हो रहा है या गलत।

कंप्यूटर मॉनीटर एक आउटपुट डिवाइस होता है जो सूचना को चित्रात्मक रूप में दर्शाने का काम करता है। एक मॉनिटर में आमतौर पर visual display, circuitry, casing, और power supply शामिल होती है। मूल रूप से, कंप्यूटर मॉनीटर का प्रयोग डेटा प्रोसेसिंग के लिए किया जाता है जबकि टेलीविजन सेट का उपयोग मनोरंजन के लिए किया जाता है।

मॉनिटर का इतिहास – History Of Monitor

सन 1929 में Zworykin नामक व्यक्ति ने मॉनिटर का अविष्कार किया था जिसे CRT मॉनिटर कहा जाता है CRT ka Full Form Cathode-ray Tube होता है CRT का उपयोग टेलीविज़न में भी किया जाता है।

  • सन 1964

1964 में यूनिस्कोप 300 मचिन द्वारा CRT Display Monitor बनाया गया था जिसे कैथोड रे ट्यूब भी कहा जाता है उस समय मॉनिटर का साइज़ और मॉनिटर का वजन दोनों ही बहुत अधिक होते थे।

  • सन 1973

1973 में ज़ेरॉक्स आल्टो नाम का कंप्यूटर लांच किया जिसमे मॉनिटर शामिल किया गया इसमें CRT टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया गया था और इसमें मोनोक्रोम डिस्प्ले था जो उस समय अच्छे प्रदर्शन के लिया अच्छा साबित हुआ।

  • सन 1975

पहला टच स्क्रीन डिस्प्ले मॉनिटर 1975 में जॉर्ज सेमुअल हर्स्ट द्वारा बनाया गया था हलाकि इसका उत्पादन और उपयोग 1982 तक नहीं किया था।

  • सन 1976

Apple I और SOI-20 कंप्यूटर पहले ऐसे कंप्यूटर आये थे जिनमे बिल्ट इन विडियो आउटपुट पोर्ट दिया गया था जो कंप्यूटर मॉनिटर या विडियो स्क्रीन के साथ मार्केट में आया और उस समय अपनी एक अलग पहचान बना चूका था।

  • सन 1977

जेम्स पी मिशेल ने सन 1977 में LED डिस्प्ले टेक्नोलॉजी का अविष्कार किया लेकिन उसके बाद काफी समय तक इन्सका प्रोडक्शन और यूजर बहुत कम थे
1977 में ही apple II द्वारा CRT मॉनिटर पर कलर का प्रयोग किया और पहली कलर डिस्प्ले बनायीं।

  • सन 1987 – 1989

इसके बाद IBM द्वारा सन 1987 में पहला VGA मॉनिटर IBM 8513 बनाया गया।
फिर 1989 में VESA द्वारा कंप्यूटर डिस्प्ले के लिए SVGA का निर्माण किया गया।

  • सन 1990

सन 1980 दशक के end में Coloured CRT Monitor 1024*720 resolution के साथ मार्केट में आये फिर 1990 के दशक में डेस्कटॉप कोम्पुटर के लिए LCD मॉनिटर EIZO L66 आया जिसे Eizo Nanao Technologies द्वारा लोच किया गया था।

  • सन 1997

सन 1997 में Apple, IBM, Viewsonic ने coloured LCD मोनिटर बनाने का काम शुरू कर दिया जो CRT मॉनिटर की तुलना में काफी बेहतर गुणवत्ता और resolution वाले थे।

  • सन 1998

इसके बाद apple स्टूडियो दिस्प्ली डेस्कटॉप का निर्माण सन 1998 में किया गया और ये डिस्प्ले किफायती, रंगीन LCD मॉनिटर में से एक थे जो एप्पल द्वारा बनाये गए थे।

  • सन 2003 – 2007

इसके बाद सन 2003 में पहली बार LCD मॉनिटर ने CRT Monitor की बिक्री को मात दी 2007 तक LCD मॉनिटर CRT Monitor की तुलना में काफी अधिक बिका और फिर LCD मॉनिटर कंप्यूटर की दुनिया में सबसे अधिक लोकप्रिय हो गया।

  • 2009

सबसे पहला इंटरफ़ेस मुक्त, और टच स्क्रीन कंप्यूटर मॉनिटर 2006 में जेफ़ हान द्वारा बनाया गया जो की नई टेक्नोलॉजी पर आधारित था फिर 2009 ने NEC कंपनी ने सबसे पहले LED मॉनीटर्स बनाये इस कंपनी ने अपना पहला LED Monitor Multisink EA222WMe launch किया और 2009 के अंत तक इसको बेचने के लिए मार्केट में उतरा था।

  • 2010 – 2017

इसके बाद AMD और Intel कंपनी ने यह घोषणा कर दी की वे होम मेड कंप्यूटर बनाती है उनके साथ मिलकर वे 2010 में VGA टेक्नोलॉजी पर आधारित मॉनिटर बनाएगे फिर लास्ट में 2017 में टचस्क्रीन LCD Monitor Users के लिए मार्केट में आगये और वे अधिक किफायती और सस्ते थे इसलिए वे बाज़ार में अधिक लोकप्रिय होगये और उनकी डिमांड और अधिक बढ़ने लग गयी।

मॉनिटर कितने प्रकार के होते हैं? – Types Of Monitors

दोस्तों आइये अब जानते है मॉनीटर्स कितने प्रकार के होते है समय के साथ साथ Monitors के प्रकार भी बदलते रहे और जरूरत के हिसाब से नए नए मॉनीटर्स के अविष्कार होते गए

CRT Monitors

Monitors में सबसे पहले CRT Monitors का अविष्कार हुआ था जिनकी साइज़ और वजन काफी ज्यादा होते थे इसलिए उन्हें कही भी लेन लेजाने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ता था CRT Monitors को कैथोड रे ट्यूब कहा जाता है 1970 दशक के अंत में Monitors में CRT का इस्तेमाल होना शुरू हो गया उससे पहले ब्लैक एंड व्हाइट मोनिटर का उपयोग किया जाता था फिर 1977 में एप्पल ने CRT कलर मॉनीटर्स लंच करदिये थे।

CRT Monitors
CRT Monitors

LCD Monitors

LCD का फुल फॉर्म लिक्विड क्रिस्टल डिस्पले (Liquid Crystal Display) होता है अगर LCD Monitors की तुलना CRT Monitors से की जाये तो ye वजन में बहुत हलके होते है और पतले होने के कारण जगह भी कम लेते है अर्थात इन्हें थोड़ी सी जगह में ही रख सकते है

LCD Monitors
LCD Monitors

TFT Monitors

TFT Monitor भी LCD Monitor का ही एक रूप है जो आज कल अधिकतर कंप्यूटर में use किया jata है यह भी LCD की तरह पतले होते है TFT ka Full Form thin Film Transistor होता है यह LCD Monitors से ज्यादा अच्छा होता है LCD की तुलना में इसकी Brightness और कंट्रास्ट ज्यादा अच्छी होती है जिसकी वजह से आखो पर लोड कम पड़ता है

TFT Monitors
TFT Monitors

प्लाज्मा Monitors

Plasma Monitors कांच के बने होते है इन्हें प्लाज्मा डिस्प्ले भी कहा जाता है कांच के अंदर छोटे छोटे सेल्स का उपयोग किया जाता है इसके अंदर इलेक्ट्रिकली चार्ज आयोनाइज्ड गैस भरी रहती है इसी को प्लाज्मा कहा जाता है और इसी वजह से इसे प्लाज्मा मॉनीटर्स कहा जाता है

plasma Monitors
plasma Monitors

LED Monitors

LED Monitors आखो को ज्यादा नुकसान नहीं पहुचाते है यह सभी मॉनीटर्स से हलके होते है ये सस्ते और किफायती भी होते है आप LCD मॉनिटर की तुलना में LED Monitors पर ज्यादा लम्बे समय तक काम कर सकते है आज के मॉडर्न जमाने में LED Monitor ही सबसे ज्यादा उपयोग में लाये जाते है ये हलके किफायती और काफी पतले होते है जिस वजह से इन्हें बहुत कम जगह में भी रखा जा सकता है और इनकी खास बात यह है की ये बहुत कम इलेक्ट्रिसिटी पॉवर कज्यूम करते है

LED Monitors
LED Monitors

Conclusion

तो दोस्तो ये था हमारा आज का article Monitor क्या है जिसमें हमने आपको Monitor kya hai Monitor ke prakar की पूरी जानकारी के बारे में पूरी जानकरी दी।

दोस्तों उम्मीद करता हूं कि इस आर्टिकल के माध्यम आपको Monitor क्या है से जुडी सभी जानकारी समझ आ गयी होगी अगर आपको हमारे इस article से संबंधित कोई भी परेशानी या सुझाव है तो आप बेझिझक हमसे संपर्क कर सकते है या आप इस पोस्ट पर कमेंट भी कर सकते है।

दोस्तों अगर आपको हमारा ये article Monitor क्या है पसंद आया हो तो इसे दोस्तो के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करना ना भूले.

यह भी पढ़े:- National Highway List 2021 | भारत में कुल कितने राष्ट्रीय राजमार्ग है?
Swift Code Kya Hota Hai और Swift Code Kaise Pata Kare
Telegram Channel kya hai – टेलीग्राम चैनल कैसे ज्वाइन करें? Telegram की पूरी जानकारी
Telegram se movie kaise dekhe – Latest Movie Download 2021 पूरी जानकारी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here