यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना: बेटी के जन्म पर मिलेंगे ₹50000 रुपये, जानें क्या है आवेदन प्रक्रिया?

संक्षिप्त जानकारी: देश में बेटियों की स्थिति में सुधार लाने के लिए राज्य सरकार दोनों ने मिलकर नई योजना की शुरुआत की है। इसी प्रकार योगी आदित्यनाथ जी ने बेटी के जन्म को बढ़ावा देने के लिए उन्हें शिक्षा प्रदान की यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना की शुरुआत हुई है। इस योजना के अंतर्गत बीपीएल वर्ग के परिवारों के कन्याओं को जन्म के समय ₹50000 की राशि की सहायता प्रदान की जाएगी। इस योजना से जुड़ी पूरी जानकारी के लिए लेख को अंत तक पढ़ें।

यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना अवलोकन

योजना का नाम यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना
की शुरुआत हुई शुरुआत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने की
सम्बंधित विभाग महिला एवं बाल विकास विभाग
लाभार्थी राज्य की आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग की लड़कियाँ
उद्देश्य बालिकाओं के जन्म को बढ़ावा देना और उनकी शिक्षा के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करना
राज्य उतार प्रदेश।
आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन ऑफ़लाइन
आधिकारिक वेबसाइट

उद्देश्य:

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा इस योजना की शुरुआत बेटियों के प्रति नकारात्मक विचार को समाप्त करने और बेटियों को शिक्षा प्रदान करने के लिए की जाती है। इस योजना के तहत राज्य सरकार द्वारा आवेदकों को जन्म से ही उनकी शिक्षा के लिए मंजूरी दे दी जाती है। इस योजना का उद्देश्य केवल बेटी को ही अमीर मां को भी आर्थिक रूप से सहायता प्रदान करना है।

सहायता प्रदान करने वाली राशि:

भाग्यलक्ष्मी योजना कल आपको प्राप्त करने के लिए अतिथि कन्याओं का बैंक खाता होना आवश्यक है। क्योंकि योजना के अंतर्गत जाने वाला लाभ डायरेक्ट कन्या के बैंक में दिया जाएगा। इस योजना के अंतर्गत जाने नीचे वाले धन राशि इस प्रकार है:

  • जब छठी कक्षा में अपना नामांकन दाखिल किया जाता है। तो उन्हें 3000 की राशि दी जाएगी।
  • आठवीं कक्षा में प्रवेश के लिए स्नातकों को ₹5000 की सहायता प्रदान की जाएगी।
  • 7000 की राशि के संस्थान में नामांकन दाखिले की सुविधा प्रदान की गई है।
  • जब 12वीं कक्षा में प्रवेश परीक्षा हुई। तो उन्हें ₹8000 की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।

लाभ एवं विशेषताएं:

  • इस योजना का लाभ सिर्फ एक परिवार में दो ही छात्रों को मिलेगा।
  • इस योजना के तहत आवेदन करने वाले परिवार में बेटी के जन्म के समय बेटी के भरण पोषण के लिए लाभार्थी के माता-पिता को ₹50000 का बांड दिया जाएगा।
  • गर्भवती महिला को पोषण युक्त आहार प्रदान करने के लिए 51 सौ रुपये की राशि लड़की की मां के बैंक में जमा किया गया।
  • इस योजना के अंतर्गत 21 वर्ष तक पूरे होने के बाद माता-पिता को ₹2 लाख रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। जिससे कन्या के माता-पिता बिना किसी आर्थिक तंगी के बेटी की शादी करा सकें।

आवश्यक दस्तावेज़:

इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए आपको कुछ अवेक्षण की नीलामी करनी होगी। जो कुछ इस प्रकार है:

  • माता-पिता का आधार कार्ड
  • बच्ची का आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • बच्ची का जन्म प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • बैंक खाता पासबुक
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट आकार फोटो

सुविधा:

इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आपको कुछ पात्रता की सूची बनानी होगी। जो कुछ इस प्रकार है:

  • इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए लाभार्थी को उत्तर प्रदेश का मूल निवासी होना चाहिए।
  • गरीबी रेखा से नीचे परिवार में जन्म लेने वाली लड़कियों को इस योजना का लाभ मिलेगा। जो 31 मार्च 2006 के बाद जन्म के लिए हो।
  • इस योजना के लिए आवेदन करने वाले अतिथि के परिवार को वार्षिक आय 2 लाख रुपये से अधिक नहीं मिलना चाहिए।
  • बच्ची के जन्म के 1 वर्ष के भीतर उसका नामांकन खोज केंद्र में होना आवश्यक है।
  • इस योजना का लाभ एक परिवार को सिर्फ दो लड़कियों को मिलेगा।
  • इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए लड़की के परिवार को स्वास्थ्य विभाग द्वारा लड़की का टीकाकरण कराना अनिवार्य है। एक ही आवेदन करने के लिए पात्र मान जायेंगे।
  • जो भी लड़कियां आवेदन करती हैं यह योजना शुरू की गई है। उसकी शादी 18 साल पहले नहीं हो पाई थी।
  • इस योजना के अंतर्गत ला प्राप्त करने वाले आवेदकों का बैंक खाता आधार नहीं होना चाहिए।

यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें?

इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए लाभार्थी को आवेदन करना होगा। आवेदन करने की प्रक्रिया कुछ इस प्रकार है:

  • इस योजना के लिए आवेदन करने के लिए सबसे पहले आपको बाल विकास की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • उसके बाद आपको भाग्यलक्ष्मी योजना फॉर्म का चयन देखने को मिला। जिस पर आपको क्लिक करना होगा।
  • उसके बाद आपके सामने आवेदन फॉर्म खुला रहेगा। जिसे डाउनलोड कर प्रिंट आउट निकालना होगा।
  • उसके बाद पूछे गए एप्लिकेशन फोड की सभी जानकारी पर ध्यान दें, आपको सही-सही भरना होगा।
  • सरकारी पंजीकरण के साथ-साथ आपको फोटो और आवश्यक दस्तावेज की फोटो कॉपी को आवेदन फॉर्म के साथ जोड़ना होगा।
  • इसके बाद आवेदन फॉर्म को अपने एस्ट्रोलैब केंद्र या महिला बाल एवं विकास कार्यालय में विक्रेता जमा कर व्यवसाय होगा।
  • इस प्रकार से यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना प्राप्त कर सकते हैं।

यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना के अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना के अंतर्गत कितनी बेटियों को लाभ प्रदान किया जाएगा?

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना के अंतर्गत बेटियों को लाभ प्रदान किया जाएगा।

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना का लाभ किसे प्रदान किया गया?

भाग्य लक्ष्मी योजना का लाभ राज्य के आर्थिक रूप से फ़्लोरिडा बीपीएल वर्ग के परिवार के लिए प्रदान किया जाएगा। ताकि उसे आर्थिक सहायता प्रदान की जा सके।

Leave a Comment