बिहार बीएड कोर्स बंद: बिहार सरकार की बड़ी घोषणा बीएड कोर्स हुआ बंद, अब क्या होगा नया कोर्स?

Moni

बिहार बीएड कोर्स 2023 बंद: बिहार बी.एड प्रवेश परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं? तो यह लेख आपके लिए महत्वपूर्ण है। हम इस लेख में विस्तार से बताएंगे कि बिहार बीएड पाठ्यक्रम क्यों बंद हो गया है। इस लेख में एकीकृत शिक्षक शिक्षा कार्यक्रम और बीएड पाठ्यक्रम बंद समाचार के बारे में बताया गया है, इसलिए इसे अंत तक अवश्य पढ़ें। बिहार बीएड कोर्स 2023 को बंद कर दिया गया है और हम बिहार बीएड कोर्स 2023 के संबंध में आपको नवीनतम अपडेट प्रदान करेंगे। आपको इस विषय पर बने रहने के लिए हमारे साथ बने रहना होगा।

बिहार बीएड कोर्स बंद?

यदि आप बिहार के निवासी हैं और बिहार से ही B.Ed कर रहे हैं या तैयारी कर रहे हैं, तो हम आपकी मदद के लिए कुछ महत्वपूर्ण बिंदुओं की नवीनतम जानकारी प्रदान करना चाहते हैं। ये बिंदु निम्नलिखित हैं:

बिहार बीएड कोर्स बंद होने पर प्रकाश डाला गया

राज्य बिहार
लेख का नाम बिहार बीएड कोर्स बंद
नये कोर्स का नाम 4 वर्ष एकीकृत शिक्षक शिक्षा कार्यक्रम (आईटीईपी)
विस्तार में जानकारी कृपया लेख को पूरा पढ़ें।
आधिकारिक वेबसाइट

बिहार बीएड कोर्स बंद – महत्वपूर्ण तिथियाँ क्या हैं?

कार्यक्रम दिनांक
आवेदन की अंतिम तिथि 31 मई, 2023
आवेदन करने की नई अंतिम तिथि 12 जून, 2023
विलम्ब शुल्क अंतिम तिथि के साथ आवेदन करें 13 जून, 2023 से लेकर 18 जून, 2023 तक
आवेदन पत्र मे ग़लत सुधार की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी 13 जून, 2023 से लेकर 18 जून, 2023 तक
एडमिट कार्ड जारी हो जायेगा 22 जून, 2023
बिहार बी.एड., 2023 के लिए प्रवेश परीक्षा की अंतिम तिथि? 26 जून, 2023

बिहार बीएड कोर्स बंद समाचार 2023 क्या है?

धार्मिक जानकारी के अनुसार, बिहार सरकार के शिक्षा विभाग ने राज्य में सभी 2 वर्षीय बीएड प्रोग्राम को बंद करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। इस प्रक्रिया के अंतर्गत नवीनतम अद्यतन जारी किए गए हैं, और हम आपको इसकी पूरी विवरणिका प्रदान करेंगे।

बिहार में 2 साल का बी.एड कोर्स कब पूरी तरह से बंद कर दिया जाएगा?

बिहार सरकार ने घोषणा की है कि साल 2030 तक बिहार राज्य के सभी छात्रों में 2 साल के बीएड प्रोग्राम को पूरी तरह से बंद कर दिया जाएगा। हम आपको इस विषय में लाइव अपडेट प्रदान करेंगे।

2 वर्ष बी.एड कोर्स की जगह पर कौन सा कोर्स शुरू किया जाएगा?

शिक्षा विभाग, बिहार सरकार ने घोषणा की है कि 2030 तक बिहार राज्य के सभी 2 वर्षीय शैक्षणिक कार्यक्रम (आईटीआईपी) को पूरे राज्य में समाप्त कर दिया जाएगा। इससे सभी को लाभ होगा।

एनसीटीई धरा बीएड प्रोग्राम को लेकर क्या पायलट प्रोजेक्ट शुरू हुआ है?

  1. एनसीटीई ने वर्तमान समय में 4 वार्षिक एकीकृत शिक्षक शिक्षा कार्यक्रम (आईटीईपी) को 2023-2027 शैक्षणिक सत्र के लिए पायलट प्रोजेक्ट के रूप में शुरू किया है।
  2. एनसीटीई ने 57 आईआईटी, एनआईटी, राज्य विश्वविद्यालय, केंद्रीय विश्वविद्यालय सहित 4 वर्ष के बैचलर एजुकेशन प्रोग्राम (आईटीईपी) को शुरू किया है।
  3. इसके साथ ही, इन सभी 57 बैचों से 4 वर्षों के लिए निर्मित शिक्षक शिक्षा कार्यक्रम (आईटीईपी) के लिए अपनाए जाने वाले करिकुलम और सिलेबस की मांग की गई है, ताकि इस पाठ्यक्रम को शुरू करने वाले क्लब और विश्वविद्यालयों को प्रदान किया जा सके।
  4. अंत में, 31 मई, 2023 तक दूसरे चरण (शैक्षणिक सत्र 2024-2028) के लिए पाइलेट प्रोजेक्ट के लिए आवेदन मांगा गया है।

4 वार्षिक एकीकृत शिक्षक शिक्षा कार्यक्रम (आईटीईपी) के लिए नामांकन कैसे आवश्यक है?

  1. 4 आइएमएडेड टीचर एजुकेशन प्रोग्राम (आईटीईपी) में प्रवेश लेने वाले सभी मैसूर और बेल्जियम को सूचित किया जाता है कि उनका प्रवेश केवल सामान्य प्रवेश परीक्षा के आधार पर ही होगा।
  2. यह प्रवेश परीक्षा एनटीए (राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी) द्वारा आयोजित की जाएगी।

सीबीएसई और सीआईएससीई बोर्ड धरा रिजल्ट जारी करने का कारण बी.एड प्रवेश परीक्षा आवेदन की नई तारीख जारी?

  1. बताया गया है कि सीबीएसई और सीआईएससीई बोर्ड द्वारा नवीनतम विज्ञप्ति जारी करने के कारण, अब मेमोरी के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 12 जून, 2023 तक बढ़ा दी गई है। इससे जुड़े को अधिक समय के लिए आवेदन करना होगा।

अंततः, आपको विस्तृत रूप से नवीनतम अपडेट प्रदान किए गए हैं ताकि आप सभी उद्यमियों को सही समय पर तैयारी शुरू कर सकें।

सारांश

इस लेख में हम विस्तार से चर्चा करेंगे न केवल 4 साल के लिए संचालित शिक्षक शिक्षा कार्यक्रम (आईटीईपी) के बारे में, बल्कि बिहार बीएड कोर्स से संबंधित नवीनतम अपडेट के बारे में भी ताकि आप अपनी तैयारी को आसानी से शुरू कर सकें कर सुविधा और लाभ लाभ उठा सकें।

FAQ बिहार बीएड कोर्स बंद

बिहार में बीएड के लिए कितने कॉलेज हैं?

बिहार में शैक्षणिक संस्थानों की एक विस्तृत श्रृंखला है, जिसमें लगभग 354 कॉलेज बी.एड पाठ्यक्रम प्रदान करते हैं।

बिहार सरकारी कॉलेज में बीएड की फीस कितनी है?

सरकारी कॉलेज के लिए फीस संरचना: बिहार में, दो साल के बीएड डिग्री कार्यक्रम की पेशकश करने वाले सरकारी कॉलेजों में पूरे पाठ्यक्रम के लिए लगभग 20,000 रुपये का ट्यूशन शुल्क है, जो प्रति वर्ष 10,000 रुपये के बराबर है।

Leave a Comment