बिहार में पुरानी जमीन का मामला: ऑनलाइन डाउनलोड करने के आसान तरीके!

Moni

जमीन का केवला कैसे निकले:- बड़ी सीक्वंस से जारी ज़मीन के पट्टियाँ बहुत समय से लोगों को मुश्किल में डाल रही हैं। अक्सर, इन चिप्स को संरक्षित रखने या साफ रखने में समस्या होती है। बिहार जमीन का केवला लेकिन अब आपको इस समस्या का समाधान मिल गया है। बिहार सरकार ने एक नया ऑनलाइन पोर्टल शुरू किया है, जिसका नाम ‘बिहार भूमि सूचना पोर्टल’ है। बिहार केवला डाउनलोड इस पोर्टल के माध्यम से, बिहार भूमि रजिस्ट्री विवरण, बिहार के नागरिक भूमि रिकॉर्ड, बिहार ऑनलाइन, अपनी जमीन की खेती आसानी से देख सकते हैं, bhojpuri.gov.in बिहार और डाउनलोड कर सकते हैं।

इस पोर्टल का उपयोग करके बिहार के नागरिक 1940 से लेकर वर्तमान समय तक के संकटों को आसानी से दूर किया जा सकता है। अगर आप भी बिहार के नागरिक हैं और अपनी जमीन की फसलें bhojpuri.gov.in bihar पर ऑनलाइन देखना चाहते हैं तो इस लेख पर ध्यान दें, क्योंकि आज हम आपको इसके बारे में जानकारी देंगे। इसके बाद, आप अपनी जमीन की तस्वीरें आसानी से देख सकते हैं और उन्हें डाउनलोड कर सकते हैं।

बिहार जमीन का केवाला

भूमि से संबंधित जानकारी और पुरानी संपत्तियों को प्राप्त करने के लिए बिहार सरकार ने एक ऑनलाइन पोर्टल शुरू किया है, जिसका नाम “भूमि जानकारी बिहार” है। बिहार केवला डाउनलोड इस ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से बिहार के नागरिक (केवला) अब किसी भी पुराने जमीन से संबंधित दस्तावेज और जानकारी आसानी से प्राप्त कर सकते हैं। “केवला” शब्द का अर्थ है, वो दस्तावेज़ जो हम किसी जमीन की तलाश और बिक्री के लिए उपयोग करते हैं, उसे ही “केवला” कहा जाता है। 1940 से अब तक, भूमि रिकॉर्ड बिहार ऑनलाइन बिहार के नागरिक अपनी जमीन के “केवल” बिहार भूमि रजिस्ट्री विवरण निकाल सकते हैं। bhanu jankar.gov.in बिहार के पुराने दस्तावेजों की खोज के लिए बिहार के नागरिकों को अब किसी भी तरह की परेशानी या परेशानी का सामना नहीं करना पड़ा, लेकिन वो 25 साल से भी पुराने हैं। इसके अलावा, आप किसी भी राज्य में बैठे हुए किसी भी भूमि की जानकारी बिहार पोर्टल के माध्यम से अपनी पुरानी भूमि के स्वामित्व को प्राप्त कर सकते हैं।

बिहार जमीन का केवाला की मुख्य विशेषताएं

लेख का नाम बिहार जमीन का केवाला
शुरू हुआ बिहार सरकार द्वारा
विद्यार्थी राज्य के नागरिक
उद्देश्य ऑनलाइन पुराने ऑनलाइन उपलब्ध सेवाएँ
वर्ष 2023
. बिहार
आवेदन प्रक्रिया ऑफ़लाइन
अधिकारिक वेबसाइट

बिहार ज़मीन का केवला का उद्देश्य

बिहार सरकार ने बिहार ऑनलाइन भूमि सूचना पोर्टल की शुरुआत करके एक महत्वपूर्ण कदम उठाया है, जिसका प्रमुख उद्देश्य राज्य के नागरिकों को ऑनलाइन माध्यम से किसी भी भूमि की जानकारी आसानी से उपलब्ध कराना है। अब यह संभव है कि कोई भी व्यक्ति अपने घर से पुरानी जमीन के कागजात को ऑनलाइन प्राप्त कर सके। इसके बाद, तहसील के कार्यालय में जाने के लिए डिजिटल को ज़र्मन का विवरण देखना और जानकारी प्राप्त करना आवश्यक नहीं है। अब बिहार के नागरिक 1940 से लेकर बिहार भूमि रजिस्ट्री विवरण आज के समय तक ज़मीन की जानकारी आसानी से ऑनलाइन देखी जा सकती है और प्राप्त की जा सकती है। इनसे बड़ी सुविधा मिलती है।

केवाला ड्रा के लिए दी जाने वाली जानकारी

  • कार्यालय खोजें
  • भूगर्भिक लाभ
  • मौजा
  • दिनांक
  • आख़िर
  • संपत्ति संख्या
  • पार्टी का नाम
  • क्षेत्र
  • पिता/पति का नाम
  • प्लाट नंबर
  • क्रम संख्या
  • भूमि प्रकार
  • भूमि प्रपत्र ऑनलाइन पुराना

बिहार ज़मीन का केवल ऑनलाइन कैसे निकले

  • सबसे पहले, आपको भूमि की जानकारी बिहार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा. जब आप वेबसाइट के सामने आएंगे तो वहां आपकी वेबसाइट का होम पेज दिखाई देगा। बिहार केवला डाउनलोड होम पेज पर आपको कई अलग-अलग विकल्प दिखाई देंगे।
  • यदि आप बिहार भूमि से संबंधित जानकारी खोज रहे हैं, तो आपको वेबसाइट के होम पेज पर उपलब्ध विभिन्न विकल्पों की जांच करनी चाहिए।
  • जब आप ‘पंजीकृत दस्तावेज़ देखें’ विकल्प पर क्लिक करें,बिहार भूमि रजिस्ट्री विवरण तो एक नया पृष्ठ खुलेगा। इस पेज पर आपको एक फॉर्म दिखाई देगा।
  • इस फॉर्म में आवश्यक जानकारी भरनी होगी, भूमि रिकॉर्ड बिहार ऑनलाइन जैसे ही आपसे सभी विवरण पूछे जाएंगे। इसके बाद, आपको जानकारी को पुनः प्राप्त करने का विकल्प मिलेगा।
  • इस तरीके से, आप अपने पंजीकृत दस्तावेजों की जानकारी आसानी से एक जगह आसानी से देख सकते हैं।
  • पहले ऊपर दिए गए तीन विकल्प – ऑनलाइन पंजीकरण (2016 से अब तक), कंप्यूटरीकरण (2006 से 2015), और पूर्व (2005 से पहले) में वर्ष का चयन करना होगा, जिस वर्ष के दस्तावेज़ आप जानना चाहते हैं।
  • अब आपको पंजीकरण कार्यालय, संपत्ति स्थान, खंड, और मौजा का चयन करना होगा।
  • इसके बाद आपको सीरियल नंबर, डेड नंबर, पार्टी का नाम, पिता/पति का नाम, खाता नंबर, प्लॉट नंबर, जमीन की कीमत और जमीन के प्रकार का चयन करके दर्ज करना होगा।
  • सभी जानकारी दर्ज करने के बाद, आपको ‘खोज’ विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • यहां क्लिक करें, आपकी स्क्रीन पर आपकी जमीन से संबंधित विवरण दिखाई देगा।
  • आप अपनी जमीन से संबंधित विवरण का प्रिंट लेकर इसे अपने पास सुरक्षित रख सकते हैं।
  • इस तरीके से, आपकी जमीन का केवल ऑनलाइन देखने की प्रक्रिया पूरी होगी।

वेब कॉपी कैसे लें

  • आपका सबसे पहला कदम भूमि संबंधी जानकारी बिहार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • जब आप आतंकवादी उद्यम करते हैं, तो आपके सामने वेबसाइट का होम पेज दिखाई देता है।
  • आपको होम पेज पर विक्रेता “वेब कॉपी देखें (WC)” विकल्प पर क्लिक करना होगा। इसके बाद आपको आवश्यक जानकारी प्राप्त होगी।
  • जब आप क्लिक करेंगे तो आपके सामने एक फॉर्म आएगा। यह फॉर्म सबसे पहले आपको मिलेगा सीरीयल नम्बर। दर्ज करना होगा.
  • इसके बाद, आपको मेनू में ड्रॉपडाउन मिलेगा पंजीकरण कार्यालय और पंजीकरण वर्ष का चयन करना होगा.
  • अब आपको सर्च वेब कॉपी विकल्प पर क्लिक करना होगा। एक बार क्लिक करें आपके सामने आपकी महानतम डॉक्यूमेंट्री की कॉपी उपलब्ध होगी।
  • आप पासपोर्ट तो इसे डाउनलोड कर सकते हैं और इसकी छपाई वाले ग्राहक अपने पास सुरक्षित रख सकते हैं।

सारांश (सारांश)

दोस्तों इस आर्टिकल में हमने आपको बिहार जमीन का केवाला इसके बारे में विस्तार से बताया गया है साथ ही आपको इस योजना के बारे में प्रकार की कोई भी जानकारी मिलनी चाहिए तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं। यदि आपको यह लेख पसंद आया है और आपको प्रेरणा मिली है तो इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को जरूर शेयर करें। वह भी इस योजना के बारे में जानकारी ले लें।

बिहार जमीन का केवाला से संबंधित अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

जमीन का केवाला कैसे निकला बिहार?

जब आप जमीन के संबंध में केवल वृत्तचित्र प्राप्त करना चाहते हैं, तो आपको bhmijanbari.bihar.gov.in वेबसाइट पर जाना होगा। वेबसाइट पर सूचीबद्ध होने के बाद, आपको ‘सेवा विकल्प’ पर क्लिक करना होगा, और इसके बाद ‘एडवांस’ विकल्प पर क्लिक करना होगा। ‘क्लिक’ करने के बाद, आपको दी गई सभी जानकारी का विस्तार से भरना होगा और ‘सबमिट’ विकल्प पर क्लिक करना होगा। इस तरह से आप आसानी से जरूरी दस्तावेज प्राप्त कर सकते हैं।

के वाले का नॉक आउट कैसे होता है?

सबसे पहले, आपको आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। होम पेज पर ‘वेब कॉपी देखें’ विकल्प पर क्लिक करें। वहां एक फॉर्म दिखेगा, जिसे भरकर आपको ‘सर्च’ पर क्लिक करना होगा। आपकी जमीन का दस्तावेज अब आपके सामने आएगा।

जमीन का 100 साल पुराना रिकॉर्ड बिहार में कैसे पाया गया?

लगभग सभी राज्यों के राजस्व विभाग ने आधिकारिक पोर्टल लॉन्च किया है। humi janbari.gov.in बिहार आप अपने राज्य के भूलेख पोर्टल पर 100 साल पुरानी जमीन का रिकॉर्ड ऑनलाइन देख सकते हैं। यह बहुत ही सरल है और एसो के साथ है।

Leave a Comment