फास्टैग क्या है?, फास्ट टैग क्या है, फ्री फास्टैग रिचार्ज कैसे करें?

Moni

हिंदी में फास्टैग, फास्टैग क्या है, फास्टैग अनिवार्य, फास्टैग रिचार्ज

अगर आप भी अपनी तरह से ड्राइविंग करना पसंद करते हैं या आपके पास खुद का वाहन है तो सड़क का यह नियम आपके लिए काफी महत्वपूर्ण है, केंद्र सरकार द्वारा पूरे देश में फास्टटेक को अनिवार्य कर दिया गया है ऐसे में आज हम आपको बताते हैं कि फास्ट टैग क्या होता है इसका उपयोग कैसे किया जाता है साथ ही फास्ट टैग लगाने के क्या फायदे होते हैं | यदि आपके पास वाहन है तो आपको यह नियम काफी महत्वपूर्ण है और यदि आपके पास यह नियम लागू नहीं है तो आपके पास मानक मानक लॉक है |

1 दिसंबर से सरकार हाईवे पर टोल टैक्स चुकाना अनिवार्य है ऐसे में अगर आपने फास्टैग का इस्तेमाल नहीं किया है तो आपको दोगुना टोल टैक्स चुकाना होगा और आपको बहुत ज्यादा इंतजार करना पड़ सकता है यहां जानें FASTag Kya Hai और सरकार ने क्या कुछ अपडेट किया है।

फास्टैग क्या है: यह रेडियो फ्रीक्वेंसी आईडेंटेंट टैग (आरएफआईडी) गाड़ी के विंड पिक्चर का उपयोग तब किया जाता है जो आपके बैंक खाते या आपके यूजीसी से सूचीबद्ध रहता है। फास्टैग के द्वारा जब भी गाड़ी टोल प्लाजा पार करती है तो एक फास्टैग खाते से भुगतान हो जाता है वहां आपको रुककर या कैश के रूप में टोल टैक्स नहीं देना होता है।

1 दिसंबर से सरकारी राजमार्ग पर टोल भुगतान के लिए फास्टैग को अनिवार्य रूप से किया गया है| सरकार 100% टोल टैक्स इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से ही लेना चाहती है और रेडियोधर्मी ध्यान में रखे गए इलेक्ट्रोनिक में नेशनल हाईवे पर टोल प्लाजा अब फास्टैग के जरिए ही भुगतान की राशि।

ऐसे में आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको बताते हैं फास्टैग क्या है, फास्टैग का उपयोग कैसे किया जाता है, फास्टैग रिचार्ज कैसे किया जाता है, फास्टैग को वाहनों में कैसे चलाया जाता है, फास्टैग रिचार्ज ऑफर संबंधित जानकारी विवरण वाले इस लेख पर ध्यान दें और पढ़ें

फास्टैग क्या है?

फास्टैग: यह एक रेडियो फ्रिकवेंसी आईडेंटेंट एसोसिएट (आरएफआईडी) टैग होता है जो गाड़ियों के विंडस्क्रीन पर इस्तेमाल किया जाता है, फास्टैग के साथ आपका बैंक खाता या नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया का घाट चौड़ा हो जाता है, जिससे गाड़ी मालिक को टोल प्लाजा से उपभोक्ता की जरूरत नहीं होती है इस टैग के खुद व खुद टोल टैक्स का भुगतान हो जाता है और टोल प्लाजा पर गेट खुल जाता है।

नोट:- 1 दिसंबर के बाद फास्टैग वाले टिकटों को प्रमुखता दी जाएगी, 1 दिसंबर के बाद ऐसे वाहन जिन पर फास्टैग स्टीकर नहीं लगा रहता है और टोल प्लाजा से छूट मिलती है तो उन्हें डबल टैक्स का भुगतान करना होगा।

उदाहरण :- मान लीजिए किसी टोल प्लाजा पर गाड़ी के पीछे के लिए पांच रास्ते हैं तो इन पांचों में से चार के ऊपर फास्टैग की सुविधा रहेगी। केवल एक ही प्लाजा कैश के भुगतान के लिए खुली रहेगी, जिसमें भी अगर कोई गाड़ी मालिक कैश भुगतान कर टोल से गुजरात जाना चाहता है तो उन्हें टोल टैक्स की नकदी की डुगनी सुविधाजनक जानकारी मिलेगी और इंतजार का समय भी काफी लंबा हो जाएगा क्योंकि टोल प्लाजा फास्टैग यूनिवर्सल सुविधा पर एक ही गेट बने रहें।

फास्टैग क्या है हाइलाइट्स

फास्टैग क्या है? FASTag भारत में एक इलेक्ट्रॉनिक टोल संग्रह प्रणाली है, जो भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAI) द्वारा संचालित है|
के लिए शुरू किया गया देश में एक बेहतर टोल टैक्स चुकाने की विधि शुरू हो गई है
तेज़ टैग लगाने का उद्देश्य यह टोल प्लाजा पर भीड़ को जल्दी से कम करता है और कैश कलेक्शन को कम करता है ताकि टोल प्लाजा को जल्दी से पार किया जा सके
फास्टैग बनाने के बाद होने वाले फायदे फास्ट टैग लगाने के बाद आपको टोल प्लाजा पर केस की जरूरत नहीं है यानि टोल प्लाजा को क्रॉस करने में आपका बहुत ही कम समय लगेगा और आपका समय बचेगा, देश को डिजिटल बनाने में काफी मदद मिलेगी क्योंकि कैशलेस भारत हमारा नया इनीशिएटा है
फ़ास्ट टैग कहाँ से लगाया गया आज लगभग हर एक बैंक उपलब्ध कराता है, आप अपने बैंक से संपर्क कर फास्टैग लगा सकते हैं, या आप टोल प्लाजा पर भी फास्टैग लगा सकते हैं।
फास्ट टैग की विशेषताएं क्या हैं फास्टैग एक इलेक्ट्रॉनिक बारकोड होता है जो आपकी गाड़ी पर लगता है कि यह लीज के बाद आपको बहुत सारी सुविधाएं और सुविधाएं मिलती हैं, जैसे कि एसएमएस पर पैसा कटने की सुविधा, ऑटो टोल पेमेंट की सुविधा आदि

फास्टैग कहाँ से ले सकते हैं?

भारत में बहुत सारे सरकारी बैंक हैं जिनके माध्यम से आप फास्टैग आप टोल प्लाजा पर भी फास्टैग ले सकते हैं। यहां तक ​​कि फास्टैग लेने के लिए आप पेटीएम और अमेज़न जैसे ऑनलाइन साइड का भी उपयोग कर सकते हैं।

सबसे आसान यह है कि आप अपना जर्नलिज्म सर्विस सेंटर के पास जाएं और वहां से एक फास्टैग स्टीकर के लिए आवेदन कर सकें और फास्टैग स्टीकर अपने घर पहुंचें।

फास्टैग कैसे काम करता है?

फास्टैग स्टीकर( फास्टैग स्टीकर) आपके वाहन के विंडस्क्रीन पर लगा रहता है क्योंकि यह एक रेडियो फ्रिकवेंसी आइडेंटेंट अटैच टैग (आरएफआईडी टैग) होता है जिसके कारण आपकी गाड़ी जब भी टोल प्लाजा के पास जाती है तो वहां पर फास्ट टैग रीडर लगा होता है और इस पाठक द्वारा आपके फास्टैग के स्टीकर (फास्टैग स्टीकर) को स्कैन किया जाता है और स्कैन करने के बाद आपके फास्टैग सिस्टम से टोल टैक्स का भुगतान खुद हो जाता है। यह प्रक्रिया काफी तेजी से होती है क्योंकि आपको अपनी गाड़ी टोल प्लाजा के पास केवल मामूली करनी पड़ती है लेकिन आपको रुकना भी नहीं पड़ता है। फास्टैग से या तो आपके बैंक अकाउंट का लिंक होता है या फिर आपके आईडी और वॉलेट से नेट काट दिया जाता है फास्टैग के अकाउंट में अकाउंट का अकाउंट खत्म होने के बाद आप इसे रीस्टार्ट भी कर सकते हैं।

फास्टैग बनाने के क्या होते हैं कुछ फायदे?

फास्टैग के बहुत सारे फायदे हो सकते हैं लेकिन इनके कुछ प्रमुख फायदे हम आपको नीचे बता रहे हैं।

  • फास्टैग सिस्टम के आ जाने से कैशलेस ट्रांजेक्शन में काफी बढ़ोतरी होगी।
  • बहुत सारी साड़ी टोल प्लाजा पर लगाया गया चार्ज, फास्टैग के आ जाने से यह समस्या भी होगी दूर।
  • फास्टैग के खराब टोल प्लाजा से काफी जल्दी गुजारा जा सकता है तो ऐसे में इंतजार की समस्या भी दूर होगी और पेट्रोल डीजल की भी बचत होगी।
  • फास्टैग साल 2016 से 2017 के बीच फास्टैग के इस्तेमाल से टोल के भुगतान पर सरकार ने 10% की छूट दी है।
  • फास्टैग के इस्तेमाल से सबसे पहले टोल प्लाजा पर जो समस्या थी वह छूटे का ना होना जिस वजह से कई बार आम लोगों की समस्या भी दूर हो जाती थी।
  • फास्टैग के इस्तेमाल से अवैध गरीबों की भी समस्या दूर होगी।
  • टोल प्लाजा पर बहुत ज्यादा जाम की समस्या दूर हो जाएगी, फैक्ट्री को कैस के रूप में ट्रांजेक्शन नहीं करना पड़ेगा तो समय बहुत कम लगेगा।
  • फास्टैग सॉफ्टवेयर में पारे नोट का उपयोग 5 साल तक किया जा सकता है।

फास्टैग एसएमएस सुविधा

फास्टैग इस्तेमाल करने वालों के लिए एक बहुत बड़ी यह भी सुविधा दी जाएगी कि आप जब भी टोल प्लाजा से जुगाड़ते हैं और आपका टोल टैक्स कटता है, तो इसे अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर उसी समय भेज दें। साथ ही आपको यह भी बताया जाएगा कि टोल प्लाजा पर आपके फास्टैग से कितना पैसा खुला है और आपके फास्टैग के स्टॉक में अब कितना पैसा बचा है।

फास्टैग की बेहतर निगरानी के लिए सरकार द्वारा आवेदन भी किया गया है, जिसके जरिए आप ट्रांजेक्शन की क्रॉल, रिचार्ज करना, कितना पैसा अनकहा गया, आपके दस्तावेजों में मौजूद कितना पैसा मौजूद है आदि की जानकारी भी देख सकते हैं।

फास्टैग रिचार्ज

फास्टैग को आप क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड, नेट नेटवर्क के माध्यम से रिचार्ज कर सकते हैं। फास्टैग के खाते में कम से कम ₹100 जमा करा सकते हैं और फास्टैग के खाते में अगर आप सिर्फ ₹100000 तक जमा कराना चाहते हैं। फास्टैग का रिचार्ज आप अपने यूनिवर्सल जनरल सर्विस सेंटर पर विक्रेता भी करवा सकते हैं।

प्वाइंट ऑफ सेल के अंतर्गत आप किसी भी टोल प्लाजा या एजेंसी के माध्यम से किसी भी टोल प्लाजा या एजेंसी के माध्यम से फास्टैग के लिए रिचार्ज भी कर सकते हैं।
नेशनल हाईवेज लिमिटेड ऑफ इंडिया की वेबसाइट पर आप अपने आसपास के सेल ऑफ पॉइंट का पता लगा सकते हैं।

वे अभी पीओएस के अंतर्गत स्टाफ बैंक और एक्सिस बैंक ही आते हैं। आने वाले समय में इसके अंतर्गत आईडीएफसी बैंक और एसोसिएट बैंक भी शामिल हैं। वहीं आप वैलिडीज बैंक, साइकिस्टिक बैंक, एक्सिस बैंक, मेटल बैंक, बैंक ऑफ पंजाब, सिंडिकेट बैंक, पेटीएम, एचडीएफसी बैंक के जरिए भी फास्टैग अकाउंट (फास्टैग रिचार्ज) को रिचार्ज कर सकते हैं।

फास्टैग खाता उपकरण के लिए दस्तावेज़ की आवश्यकता है?

फास्टैग के तहत खाता धारक के लिए आपके पास निम्नलिखित दस्तावेज होना जरूरी है।

  • वाहन का पंजीकरण प्रमाण पत्र ( वाहन प्रमाणपत्र , आरसी का पंजीकरण )
  • वाहन के मालिक का पासपोर्ट साइज फोटो (मालिक पासपोर्ट साइज फोटो)
  • वाहन मालिक का केवैसी दस्तावेज जैसे आधार कार्ड, पैन कार्ड, वोटर आईडी आदि (मालिक का ई-केवाईसी दस्तावेज जैसे पैन कार्ड, आधार कार्ड, वोटर आईडी आदि)

नोट:- 1 दिसंबर के बाद फास्टैग को पूरे देश में लागू कर दिया जाएगा ऐसे में अगर आपके पास फास्टैग नहीं है तो आपको डबल टोल टैक्स भरने के साथ ही काफी इंतजार करना होगा।

ध्यान दें :- ऐसे ही केंद्र सरकार और राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई नई या सरकारी मंजूरी की जानकारी हम सबसे पहले इस वेबसाइट पर देखें sarkaryojana.com के माध्यम से दिए गए हैं तो आप हमारी वेबसाइट को फॉलो करना ना भूलें।

अगर आपको यह लेख पसंद आया है तो इसे करें पसंद और शेयर करना अवश्य करें।

इस लेख को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद…

अमर गुप्ता द्वारा पोस्ट किया गया

फास्टैग क्या है, फास्टैग क्या है, फास्टैग क्या है। हिंदी में फास्टैग, हिंदी में फास्टैग, हिंदी में फास्टैग, हिंदी में फास्टैग, हिंदी में फास्टैग, हिंदी में फास्टैग, हिंदी में फास्टैग, हिंदी में फास्टैग, फास्टैग क्या है, फास्टैग अनिवार्य, FASTag अनिवार्य, FASTag अनिवार्य, FASTag अनिवार्य, FASTag अनिवार्य, FASTag अनिवार्य, FASTag अनिवार्य, FASTag अनिवार्य। फास्टैग रिचार्ज, फास्टैग रिचार्ज, फास्टैग रिचार्ज, फास्टैग रिचार्ज, फास्टैग रिचार्ज, फास्टैग रिचार्ज, पेटीएम फास्टैग रिचार्ज, पेटीएम फास्टैग रिचार्ज, पेटीएम फास्टैग रिचार्ज, पेटीएम फास्टैग रिचार्ज, पेटीएम फास्टैग रिचार्ज, पेटीएम फास्टैग रिचार्ज, पेटीएम फास्टैग रिचार्ज, पेटीएम फास्टैग रिचार्ज, पेटीएम फास्टैग रिचार्ज, पेटीएम फास्टैग रिचार्ज, पेटीएम फास्टैग रिचार्ज

FAQ फास्टैग क्या है नया अपडेट 2022

फास्ट टैग क्या है?

फास्ट टैग एक रेडियो फ्रिकवेंसी आईडेंटेंट टैग (आरएफआईडी) जो गाड़ी के विंड पिक्चर का इस्तेमाल टोल प्लाजा के तहत टोल टैक्स के भुगतान कैशलेस और डिजिटल माध्यम से किया जाता है।

फास्टैग के इस्तेमाल से हमें क्या फायदा है?

फास्टैग का उपयोग करने से हमें बहुत सारे लाभ हो सकते हैं जैसे कि टोल प्लाजा पर हमें इंतजार करना बहुत कम करना होगा, पेट्रोल-डीजल की बचत होगी, पर्यावरण में प्रदूषण की समस्या भी कम होगी, टोल प्लाजा पर अवैध चाहने वालों की समस्या भी कम होगी जाएंगे और भी बहुत सारे फायदे हैं जो हमने आपको ऊपर विस्तार में बताए हैं।

मैं फास्टैग कैसे खरीद सकता हूं?

फास्टैग को आप अपने ऑटोमोबाइल टोल प्लाजा या फिर मैकेनिकल सर्विस सेंटर के माध्यम से खरीद सकते हैं। और तो और फास्टैग की खरीद आप अपने बैंक में ग्राहक भी कर सकते हैं। यहां तक ​​कि फास्टैग की बिक्री अब पेटीएम और अमेजन जैसी ऑफलाइन साइट पर भी शुरू हो गई है।

क्या मैं फास्टैग का उपयोग दो ऑटोमोबाइल वाहनों के लिए कर सकता हूं?

“नहीं” वर्तमान में अगर बात की जाये तो दो गाड़ियों के लिए फास्टैग की आवश्यकता नहीं है।

अगर हम 24 घंटे के भीतर ही टोल प्लाजा से लौट आएं तो क्या हुआ?

फास्टैग एक ऐसी तकनीक उपलब्ध कराती है जिसके माध्यम से यदि आप वॉक टोल प्लाजा क्रॉस करते हैं तो जो चार्ज लगता है और यदि आप 24 घंटे के अंदर वापस उसी टोल प्लाजा को क्रॉस करते हैं तो ऐसे में फास्ट ट्रैक टेक्नोलॉजी खुद-ब-खुद यह डिटरमाइंड कर व्यवस्था है कि आप कितनी देर तक टोल प्लाजा के अंदर क्रॉस कर रहे हैं, अगर यह समय 24 घंटे से कम होता है तो ऐसे में आपको पूरा टोल टैक्स नहीं लगेगा बल्कि टोल टैक्स की राशि में कुछ कम कर दिया जाएगा यह एक और सिस्टम है ऑटो राइट काम करता है | यानी फास्टैग से पहले जब आप गैस के माध्यम से भुगतान करते थे तो आपको दो बार ही भुगतान करना पड़ता था लेकिन फास्टैग आ जाने से यह समस्या दूर हो जाती है|

Leave a Comment