किसान क्रेडिट कार्ड 2023: किसानों को सीधे बैंक में मिलेंगे ₹5 लाख!

Moni

किसान क्रेडिट योजना केसीसी – मोदी सरकार ने किसान क्रेडिट कार्ड को एक बड़ा अपडेट दिया है। इस शैवाल के अंतर्गत, अब खेती-बाड़ी नहीं, बल्कि पशुपालन और मत्स्यपालन भी शामिल है। किसान अब सरकार द्वारा 2 लाख रुपए तक का लोन दिया जा सकता है, जिससे वे खेती और डेयरी-मत्स्य पालन दोनों कर सकते हैं। पहले से ही किसानों को खेती के लिए किसान क्रेडिट कार्ड स्कीम के तहत 3 लाख रुपये का लोन दिया जा रहा था।

इस बिजनेस से किसानों को बहुत फायदा होगा जिससे वे अपनी खेती, खेती और मछलीपालन के सामान आसानी से चला सकते हैं। इस स्कीम के तहत उन्हें कीमत और भुगतान की सुविधा भी मिलेगी। इसके साथ ही, यह उन छोटे किसानों के लिए भी उपलब्ध है जो कम आय वाले हैं और उन्हें आर्थिक सहायता की आवश्यकता है।

किसानों को होगा ज्यादा फायदा।

जैसे कि किसान क्रेडिट कार्ड स्कीम के विस्तार को बढ़ाया गया है तो ऐसे में किसान अपने बिजनेस को और बढ़ा सकते हैं खेती के साथ वह खेती और मछली पालन के भी बिजनेस को कर सकते हैं। किसान केसीसी योजना किसानों को बैंक जाना होगा और अपने लोन पास पर केवल तीन दस्तावेजों के आधार पर ऐसी जानकारी सारंगी सरकार ने बताई है। सरकार ने जो किसान मछलीपालन और बच्चों का काम करना चाहते हैं उनके लिए किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) की सुविधा शुरू कर दी है।

सरकार के इस कदम से किसानों का दिन दुगना रात चौगुना विकास होगा उन्हें इधर-उधर नहीं भटकाना होगा।

बिज़नेस किसान क्रेडिट कार्ड का आवेदन।

कृषि मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी से मिली जानकारी से हमें पता चला कि सरकार किसान क्रेडिट कार्ड को बढ़ावा देने के लिए भी काम कर रही है।किसान क्रेडिट कार्ड क्रेडिट कार्ड की पहुंच पूरे देश में किसानों के पास ही है, यानी देश में 14.5 करोड़ किसान परिवार के पास ही किसान क्रेडिट कार्ड मौजूद है। इसका कारण किसान क्रेडिट कार्ड लेने में अधिक समय और जटिल प्रक्रिया है।योजना

किसान क्रेडिट कार्ड बनवाना अब होगा आसान।

इस नए टेक्नोलॉजी के तहत अब किसान क्रेडिट कार्ड बनवाना काफी आसान हो गया है और कार्ड धारक के लिए केवल तीन दस्तावेजों की ही जरूरत होगी।

  • ◆ जो व्यक्तिगत आवेदन कर रहा है वह किसान के नाम पर है या उसका दस्तावेज नहीं है
  • ◆ जो व्यक्ति आवेदन करना चाहता है वह अपना निवास प्रमाण पत्र चाहता है
  • ◆आवेदन करने वाले का शपथ पत्र और उसका किसी बैंक में लोन दस्तावेज़ नहीं है

सरकार ने शीघ्र किसान क्रेडिट कार्ड बनाने के निर्देश दिए हैं।

डिजिटल मार्केटिंग एसोसिएशन से भी किसान क्रेडिट कार्ड बनाने वाले किसानों से आग्रह करते हुए कहा गया है कि वह किसान क्रेडिट कार्ड बनाने के लिए किसानों से किसी प्रकार का फ़ायदा न लें, जल्दी से क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए वह पंचायत में किसानों और किसानों को किसान क्रेडिट दें। जल्द से जल्द की कार्ड सुविधा।

सरकारी कर्मचारी एक लाख तक का ब्याज मुक्त लोन।

जैसा कि मोदी सरकार ने अपने घोषणा पत्र में बताया था कि अगर बिजनेस सरकार से मुलाकात हुई तो किसानों को मुफ्त में लोन मिलेगा। सरकार ने किसानों को जीरो परसेंट ब्याज दर पर एक लाख का लोन देने का काम भी शुरू कर दिया है, इसके लिए मूल राशि को समय पर भुगतान करना अनिवार्य रखा गया है।

अधिक जानकारी

नोट:- यदि आपके पास भी ऐसे किसान हैं जिनके पास अभी तक किसान क्रेडिट कार्ड नहीं मिला है तो आज ही आप अपने बैंक में इसके लिए आवेदन कर किसान क्रेडिट कार्ड पा ले लें।

हमारी यह पोस्ट पसंद आयी है तो आप इसे जरूर पढ़ें पसंद और शेयर करना ऐसी ही जानकारी समुद्र तट पर रहने के लिए आप हमारे इस ब्लॉग पर जाएँ अनुसरण करना भी कर सकते हैं।

किसान क्रेडिट कार्ड (केसीसी) की विशेषताएं और लाभ
  • केसीसी खाते में जमा शेष पर बचत बैंक दर पर ब्याज प्राप्त करें।
  • सभी केसीसी उधारकर्ताओं के लिए निःशुल्क एटीएम सह डेबिट कार्ड (स्टेट बैंक किसान कार्ड)।
  • रुपये तक की ऋण राशि के लिए 2% प्रति वर्ष की दर से ब्याज छूट उपलब्ध है। 3 लाख
  • शीघ्र भुगतान के लिए प्रति वर्ष 3% की दर से अतिरिक्त ब्याज छूट
  • अधिसूचित फसलें/अधिसूचित क्षेत्र सभी केसीसी ऋणों के लिए फसल बीमा के अंतर्गत आते हैं
  • पहले वर्ष के लिए ऋण की मात्रा का आकलन खेती की लागत, फसल के बाद के खर्च और खेत के रखरखाव की लागत के आधार पर किया जाएगा।
  • अगले 5 वर्षों के लिए वित्त के पैमाने में वृद्धि के आधार पर ऋण स्वीकृत किया जाएगा

  • रुपये तक केसीसी सीमा के लिए संपार्श्विक सुरक्षा माफ कर दी गई है। 1.60 लाख.
  • संपार्श्विक सुरक्षा आवश्यकता तय करने के उद्देश्य से स्वीकृत केसीसी सीमा पर विचार किया जाएगा
  • एक वर्ष या पुनर्भुगतान की देय तिथि तक, जो भी पहले हो, 7% प्रति वर्ष की दर से साधारण ब्याज लिया जाएगा।
  • नियत तिथियों के भीतर पुनर्भुगतान न करने की स्थिति में कार्ड दर पर ब्याज लगाया जाता है
  • नियत तिथि के बाद ब्याज अर्धवार्षिक रूप से संयोजित किया जाएगा
  • जिन फसलों के लिए ऋण दिया गया है, उनकी अनुमानित कटाई और विपणन अवधि के अनुसार पुनर्भुगतान अवधि तय की जा सकती है।
किसान क्रेडिट कार्ड (केसीसी) पात्रता
  • सभी किसान – व्यक्तिगत/संयुक्त कृषक मालिक
  • किरायेदार किसान, मौखिक पट्टेदार और बटाईदार आदि।
  • किरायेदार किसानों सहित एसएचजी या संयुक्त देयता समूह।

किसान क्रेडिट कार्ड (केसीसी) आवश्यक दस्तावेज़

  • विधिवत भरा हुआ आवेदन पत्र
  • पहचान प्रमाण- मतदाता पहचान पत्र/पैन कार्ड/पासपोर्ट/आधार कार्ड/ड्राइविंग लाइसेंस आदि
  • पते का प्रमाण: मतदाता पहचान पत्र / पासपोर्ट / आधार कार्ड / ड्राइविंग लाइसेंस आदि
सरकार ने शीघ्र किसान क्रेडिट कार्ड बनाने के निर्देश दिए हैं।

डिजिटल मार्केटिंग एसोसिएशन से एक किसान क्रेडिट कार्ड बनाने की अपील करते हुए कहा गया है कि वह किसान क्रेडिट कार्ड बनाने के लिए किसानों से किसी भी प्रकार की फ़ीस ना ले किसान केसीसी योजना, क्रेडिट कार्ड जल्दी से बनाने के लिए वह पंचायत में विक्रेता और किसान हैं। किसान क्रेडिट कार्ड की सुविधा जल्द से जल्द खरीदें।

सरकारी कर्मचारी एक लाख तक का ब्याज मुक्त लोन।

जैसा कि मोदी सरकार ने अपने घोषणा पत्र में बताया था कि अगर बिजनेस सरकार से मुलाकात हुई तो किसानों को मुफ्त में लोन मिलेगा। किसान केसीसी योजना सरकार ने किसानों को जीरो परसेंट ब्याज दर पर एक लाख का लोन देने के ऊपर काम भी शुरू कर दिया है, इसके लिए मूल राशि को समय पर भुगतान करना अनिवार्य रखा गया है यह स्कीम फ्री लोन किसान क्रेडिट ऋण कहलाएगी।

किसानों को होगा ज्यादा फायदा।

जैसे कि किसान क्रेडिट कार्ड स्कीम के विस्तार को बढ़ाया गया है तो ऐसे में किसान अपने बिजनेस को और बढ़ा सकते हैं खेती के साथ वह खेती और मछली पालन के भी बिजनेस को कर सकते हैं। किसानों को बैंक जाना होगा और अपने लोन पास पर केवल तीन दस्तावेजों के आधार पर ऐसी जानकारी सारंगी सरकार ने बताई है। सरकार ने जो किसान मछलीपालन और बच्चों का काम करना चाहते हैं उनके लिए किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) की सुविधा शुरू कर दी है।

Leave a Comment