पीएम किसान 15वीं किस्त: घर बैठे ई-कैवैसी कैसे करें? स्टेप-बाय-स्टेप गाइड!

Moni

पीएम किसान ई-केवाईसी प्रधानमंत्री किसान योजना (पीएम किसान योजना) से जुड़े किसानों के लिए एक बड़ा अपडेट। अब किसानों को अपनी ई-केवाईसी (ई-केवाईसी) के लिए कहीं भी भटकने की जरूरत नहीं है। ई-केवाईसी प्रक्रिया (E-KYC प्रक्रिया) अब किसान बड़ी आसानी से pm किसान ईकेवाईसी ऑनलाइन अपने घर पर ही पूरा कर पैसा। किसान किसान योजना के लिए अब ई-केवैसी लेना अनिवार्य है। हालाँकि, कई किसान अब तक इस प्रक्रिया को पूरा नहीं कर पाए हैं, जिससे वे 15वीं किस्त तक परेशानी का सामना कर सकते हैं। pm किसान ई-केवाईसी मोबाइल लेकिन अब आपको इसकी चिंता करने की जरूरत नहीं है। अब आप अपनी 15वीं किस्त से पहले ही बिना किसी समस्या के pm किसान स्टेटस kyc प्रक्रिया को बड़ी सरलता से pm kisan ekyc csc अपने एंड्रॉइड मोबाइल के माध्यम से पूरा कर सकते हैं।

पीएम किसान ई-केवाईसी के लिए 15वीं किस्त

सरकार द्वारा प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत ऑफर की जाने वाली किसान मोबाइल ऐप लॉन्च की गई है। इस ऐप के माध्यम से आप बहुत आसानी से ई-केवाईसी कर सकते हैं, बिना किसी फिंगरप्रिंट प्रिंट या ओटीपी की आवश्यकता के। आपको सिर्फ अपना चेहरा दिखाना होगा,अपराह्न किसान स्थिति केवाईसी और आपकी पूरी ई-केवैसी प्रक्रिया स्वच्छता से पूरी तरह से जुड़ी हो सकती है। इसका अर्थ है कि किसान अब अपनी ई-केवैसी प्रक्रिया को बड़े पैमाने पर आसानी से पूरा कर सकते हैं, और अन्य किसानों को भी सहायता कर सकते हैं। यह जरूर याद रखें कि किसान योजना की 15वीं किस्त उन्हें ही ई-केवैसी प्रक्रिया से पूरी करनी चाहिए। अगर आपने तय नहीं किया है तो आप 15वीं किस्त से शुरू कर सकते हैं। प्रधानमंत्री किसान योजना के तहत हर साल किसानों को सीधे 6,000 रुपये मिलते हैं।

इस लेख में, हम Sarkariyojnaa.com के माध्यम से किसान मोबाइल ऐप के बारे में चर्चा करेंगे। हम आपको यह बताते हैं कि किसान ऐप का उपयोग कैसे करें, आप ईकेवैसी की प्रक्रिया को पूरा कर सकते हैं, इसके लिए कौन-कौन से सीखना जरूरी है, ई-केवैसी क्या है, और इसके महत्वपूर्ण क्या हैं। हम आपको यह भी बताते हैं कि अगर आप ऐसा नहीं करते हैं तो क्या नुकसान हो सकता है।

पीएम किसान योजना 15वीं किस्त: जानें कौन होगा राज्य!

कई किसानों को अब तक 14वीं किस्त की राशि प्राप्त नहीं हुई है। इन किसानों के नामांकन में ईकेवी के कारण समस्याएं हैं, और नामांकन में भी कुछ खामियां हो रही हैं। इस समस्या को दूर करने के लिए यूपी सरकार ने किसान हेल्प डेस्क की शुरुआत की है। यह योजना 15वीं किस्त तक किसानों को लाभ पहुंचाएगी, लेकिन वह किसानों को इसके पात्र पोषक तत्व बाहर हैं, उन्हें यह लाभ नहीं मिलेगा।

पीएम किसान योजना 15वीं किस्त: इन किसानों का नाम योजना यहां से प्राप्त की जा सकती है

जांच के दौरान गलत तरीके से योजना का लाभ उठाने वाले किसानों की सूची निकाली जा रही है। इसका मतलब यह है कि लाखों किसान, जो किसान योजना के लाभार्थी हैं, उन्हें इस योजना का लाभ नहीं मिल रहा है। भूलेख के आवेदन के दौरान, अब तक आवेदक को वापस नहीं लिया जा रहा है, जो कि उनके लिए एक महत्वपूर्ण स्रोत है। यह उन्हें कानूनी चुनौतियों का सामना करने के लिए भी विपरीत बनाता है।

पीएम किसान योजना 15वीं किस्त: नवंबर-दिसंबर में जारी होने की संभावना

14वीं और 15वीं किस्त के राक्षसों की संख्या में बदलाव का ख़तरा है। अनुमान है कि इस राशि में नवंबर के आखिरी हफ्ते या फिर दिसंबर के पहले हफ्ते में किसानों के खाते जमा हो सकते हैं। हालाँकि इसकी आधिकारिक पुष्टि अब तक नहीं हुई है। प्रधानमंत्री किसान योजना से जुड़े अन्नदाता को हर साल तीन बार 2-2 हजार रुपये की आर्थिक सहायता मिलती है। इसके विपरीत, वे अनुमान लगाते हैं कि 6 हजार रुपये का लाभ उठाया जा सकता है।

किसान मोबाइल ऐप क्या है (पीएम किसान मोबाइल ऐप क्या है)

कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने किसानों के लिए किसान मोबाइल ऐप 22 जून 2023 को लॉन्च किया था। इस ऐप की मदद से किसान घर बैठे ई-केवाईसी (ई-केवाईसी) प्रक्रिया को बहुत जल्दी पूरा कर लें। इस ऐप में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत होने वाली ई-केवैसी की प्रक्रिया पूरी तरह से फेसबुक ऑथेंटिकेशन पर आधारित है, जिससे आप ई-केवैसी में कुछ ही मिनट का आनंद ले सकेंगे। (ई-केवाईसी) प्रक्रिया को आसानी से पूरा किया जा सकता है। इस ऐप में यह स्वीकार किया गया है कि किसान का चेहरा जाना है, और फिर किसानों को किसान सम्मान निधि योजना का लाभ मिलेगा। किसान मोबाइल ऐप की खास बात यह है कि इसके जरिए किसान भी अपने चेहरे को वेरिफाई करवा सकते हैं, बिना किसी परेशानी के पीएम किसान स्टेटस केवाईसी। इसके लिए किसानों को अपने मोबाइल फोन की आवश्यकता नहीं है और न ही किसी प्रकार का ओटीपी का उपयोग करना है। यह सिस्टम केवल किसानों की पहचान का उपयोग करता है, जिससे किसानों को किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं होती है।

किसान मोबाइल ऐप से फेसबुक प्रमाणीकरण ई-केवाईसी कैसे करें

प्रधानमंत्री किसान मोबाइल ऐप (पीएम किसान मोबाइल ऐप) के माध्यम से ई-केवैसी (फेस ऑथेंटिकेशन ई-केवाईसी) करने के लिए सबसे पहले आपको इस ऐप को अपने मोबाइल पर डाउनलोड करना होगा। जब आप इसे डाउनलोड कर लें, तो आप आसानी से फेस ऑथेंटिकेशन ई-केवैसी कर सकेंगे। प्रधानमंत्री किसान मोबाइल ऐप के माध्यम से फेस ऑथेंटिकेशन ई-कैवैसी करने की प्रक्रिया निम्नलिखित है:

सबसे पहले आपको किसान मोबाइल ऐप ओपन करना होगा।

  • इसके बाद, आपको किसान मोबाइल ऐप का उपयोग करके अपना पंजीकरण दर्ज करके ओटीपी के माध्यम से लॉगिन करना होगा।
  • लॉगिन करने के बाद, डैशबोर्ड पर, अगर आपका पीएम किसान ई-केवाईसी (केवैसी) पूरा नहीं हुआ है, तो आपको “ई-कैवैसी योर टू कंप्लीट योर चेक हियर टू कंप्लीट योर ई-केवैसी” पर क्लिक करना होगा।
  • अगर आप ई-केवाईसी करना चाहते हैं, तो आप अपने ही अकाउंट से लॉगिन करके “ई-केवैसी फॉर अदर वेनिफिशरीज” विकल्प पर क्लिक करके आसानी से ई-केवाईसी कर सकते हैं।
  • अब आपके मोबाइल स्क्रीन पर एक नया पेज खुलेगा, जिसमें आपको “फेस ऑथेंटिकेशन” विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद, आपका मोबाइल कैमरा खुलेगा, और आपको अपनी फोटो लेनी होगी। जैसे ही आपकी फोटो ली जाएगी, आपका फेस ऑथेंटिकेशन तुरंत पूरा हो जाएगा।
  • इस तरीके से, आप अपने किसान मोबाइल ऐप का उपयोग करके अपने घर से ही फेस ऑथेंटिकेशन के माध्यम से पीएम किसान ई-केवाईसी प्रक्रिया को पूरा कर सकते हैं।

किसान मोबाइल ऐप का क्या है लाभ

आपके प्रदेश के किसानों के लिए प्रधानमंत्री किसान मोबाइल ऐप pm किसान ईकेवाईसी सीएससी बहुत उपयोगी हो सकता है। इस ऐप के मुख्य फायदे निम्नलिखित हैं:

  • किसानों के लिए आसान ई-कैवैसी: प्रधानमंत्री किसान मोबाइल ऐप के फेस ऑथेंटिकेशन सुविधा का उपयोग करके किसान अपने ई-केवैसी को सरलता से कर सकते हैं।
  • तेज़ ई-केवैसी प्रक्रिया: इस ऐप के माध्यम से आप कहीं भी कुछ ही मिनटों में ई-कैसी प्रक्रिया पूरी कर सकते हैं।
  • सबसे करीबी किसानों की सहायता: प्रधानमंत्री किसान मोबाइल ऐप की सहायता से आप अपने आस-पास के करीब 100 किसानों को उनके घर से पीएम किसान ई-केवाईसी मोबाइल ई-केवाईसी में मदद कर सकते हैं।
  • खेती से संबंधित जानकारी: इस ऐप के माध्यम से, किसानों को खेती और किसानी से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी भी प्राप्त होती है।
  • सबसे आसान तरीका: इस ऐप के माध्यम से, किसान भूमि सीडिंग, आधार को बैंक खाते से जोड़ना, और ई-केवैसी स्टेटस की जानकारी आसानी से प्राप्त कर सकते हैं।

इस प्रकार, प्रधानमंत्री किसान मोबाइल ऐप पीएम किसान स्टेटस केवाईसी किसानों को उनकी कृषि समस्याओं का समाधान प्रदान करता है और उनके जीवन को स्थापित करता है।

ई-केवैसी के लिए आवश्यक दस्तावेज

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के ई-कैवैसी की ऑनलाइन pm किसान ईकेवाईसी ऑनलाइन प्रक्रिया को पूरा करने के लिए कुछ जरूरी चीजें जरूरी हैं। आपको ई-केवैसी करने के लिए समय सीमा का पालन करना होगा:

  • किसान का आधार कार्ड
  • पासपोर्ट आकार फोटोग्राफ
  • चरित्र पहचान-पत्र
  • ड्राइविंग लाइसेंस
  • पैन कार्ड
  • ज़मीन के टुकड़े
  • बैंक खाता विवरण के लिए पासबुक की प्रति

इसके अलावा, आप किसी दस्तावेज़ को पहचान और प्रमाण के रूप में भी उपयोग कर सकते हैं। यह दस्तावेज़ आपकी ई-केवैसी प्रक्रिया को खरीदने में मदद करेगा।

पीएम किसान मोबाइल ऐप डाउनलोड करने का तरीका

अब हम देखेंगे कि किसानों को प्रधानमंत्री किसान मोबाइल ऐप पीएम किसान ई-केवाईसी मोबाइल को डाउनलोड करने की प्रक्रिया के लिए आप इसे आसानी से अपने मोबाइल में गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं।

  • सबसे पहले, अपने एंड्रॉइड फोन को Google Play Store (Google Play Store) में खोलें।
  • जब गूगल प्ले स्टोर खुलेगा, तो आपको ‘पीएम किसान’ टाइप करके सर्च बॉक्स में जाना होगा। pm किसान ई-केवाईसी मोबाइल पर आप सीधे यह भी सर्च कर सकते हैं, अगर आप चाहें तो।
  • अब आपकी एक सूची आपकी स्क्रीन पर दिखाई देगी।
  • आपको ‘इंस्टॉल’ बटन पर क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही किसान मोबाइल ऐप लोकप्रिय हो जाए, तो आपको ‘ओपन’ विकल्प पर क्लिक करना होगा।

इस तरह से आप अपने मोबाइल पर प्रधानमंत्री किसान मोबाइल ऐप डाउनलोड कर सकते हैं। pm kisan ekyc online यह एक सरल और सशक्त प्रक्रिया है।

ई-केवैसी करना क्यों जरूरी है

ई-केवैसी पीएम किसान ईकेवाईसी ऑनलाइन का मतलब ग्राहक को पहचानना है, अर्थात बैंक द्वारा ग्राहक को पहचानना एक विशेष प्रक्रिया का उपयोग करना है। इसका उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि एक खाता वास्तविकता जिसने एक ही खोला है उसे खोल दिया गया है pm किसान ईकेवाईसी सीएससी और किसी दूसरे व्यक्ति का इस खाते से कोई संबंध नहीं है।

इसी तरह, प्रधानमंत्री किसान योजना में भी पीएम किसान स्टेटस केवाईसी ई-केवैसी प्रक्रिया को पूरा करने का लक्ष्य लोगों को योजना का लाभ प्राप्त करने में मदद करना है। इसके लिए ई-केवैसी करना बेहद जरूरी है ताकि कोई भी पात्र व्यक्ति योजना का लाभ गलत तरीके से प्राप्त न कर सके।

ई-केवैसी से कोई नुकसान नहीं हो सकता

ई-केवैसी का महत्व

ई-केवैसी से आपको नुकसान नहीं हो सकता। यदि आप ई-केवैसी नहीं करते हैं, तो आपको किसान योजना की किस्त मिलने में समस्या हो सकती है। pm किसान ईकेवाईसी ऑनलाइन सरकार ने ई-केवैसी लेना अनिवार्य कर दिया है। ऐसे में यदि आपके पास इसका स्वामित्व नहीं है, तो आप इस योजना की पात्रता सूची से बाहर जा सकते हैं।

इसके परिणामस्वरूप, आपको किसान योजना की 15वीं किस्त नहीं मिलेगी, पीएम किसान ईकेवाईसी सीएससी और आगे की किस्त भी नहीं दी जाएगी। इसलिए ई-केवैसी की प्रक्रिया जल्द से जल्द पूरी करें, ताकि बिना किसी रूकावट के आपको किसान सम्मान निधि योजना के तहत हर साल 6,000 रुपये का लाभ मिल सके।

सारांश (सारांश)

दोस्तों इस लेख में हमने आपको पीएम किसान योजना के बारे में विस्तार से बताया है साथ ही आपको इस योजना के बारे में किसी भी प्रकार की जानकारी मिलनी चाहिए तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं। यदि आपको यह लेख पसंद आया है और आपको प्रेरणा मिली है तो इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को जरूर शेयर करें। वह भी इस योजना के बारे में जानकारी ले लें।

एक किसान में केवैसी नहीं हुआ तो क्या होगा?

वे किसान जो प्रधानमंत्री किसान किसान केवैसी को पूरा नहीं कर पाएंगे, उन्हें इस योजना के तहत कोई लाभ नहीं मिलेगा। यह सूचना 16 अगस्त 2023 को जारी की गई है।

कितनी बार देखना है?

बैंक स्कोर जोखिम धारणा के आधार पर क्रेडिट रिकॉर्ड को अपडेट करने के लिए विभिन्न समय-सीमाएँ निर्धारित की गई हैं। यहां उच्च जोखिम वाले खिलाड़ियों को हर दो साल में एक बार, pm किसान ईकेवाईसी सीएससी मध्यम जोखिम वाले खिलाड़ियों को हर आठ साल में एक बार, और कम जोखिम वाले खिलाड़ियों को हर दस साल में एक बार क्रेडिट स्कोर अपडेट करना आवश्यक है।

मेरा केवैसी क्यों खारिज कर दिया गया है?

केवैसी धागे के सबसे आम सामान में से एक मूल अपलोड अपलोड करने में विफलता है. याद रखें कि आपको मूल समीक्षा की स्पष्ट तस्वीर अपलोड करनी है न कि समीक्षा की फोटोकॉपी।

केवैसी कितने दिन में होती है?

केवैसी को अनलॉक और के रा के साथ पंजीकृत होने में 10-15 कार्य दिवस शामिल हैं। आप यहां अपना केवैसी स्टेटस चेक कर सकते हैं।

Leave a Comment