मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना 2023: ऑनलाइन आवेदन, पाया गया?

Moni

छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री वृक्ष सम्पदा योजना 2023 ऑनलाइन पंजीकरण, छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन करें और 50% तक की छूट |

छत्तीसगढ़ छत्तीसगढ़ी गौरव दिवस के अवसर पर 17 दिसंबर 2022 के दिन के लिए मुख्यमंत्री बाहुबली बघेल ने किसानों का संदेह सच करने और व्यावसायिक आलोचना को बढ़ावा देने की घोषणा की। मुख्यमंत्री वृक्षावरम प्रसाद योजना कोरी जारी करने की बात कही है। इस योजना के लागू होने के बाद ऐसा माना जा रहा है कि छत्तीसगढ़ में ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाए जाएंगे और वहां के किसानों को उनके लिए ये एक बहुत बड़ा मौका मिलेगा। छत्तीसगढ़ गौरव दिवस जिस कार्यक्रम में आयोजित किया गया था उस कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने ये बात कही थी। मुख्यमंत्री जी ऐसा माना जाता है कि छत्तीसगढ़ को समृद्ध बनाने के लिए पेड़-पौधों को निकालना बहुत जरूरी है। और लोग अपने निजी क्षेत्र में पेड़ पौधे लगाना भी बहुत जरूरी है इसलिए किसानों के साथ-साथ सरकार का सपना पूरा करने के लिए इस योजना को लागू किया जा रहा है।

छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री वृक्ष सम्पदा योजना

छत्तीसगढ़ सरकार 4 साल पूरे होने की खुशी में छत्तीसगढ़ गौरव दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 17 दिसंबर से मुख्यमंत्री वृक्षाच्छादित वृक्षारोपण योजना लागू करने की घोषणा की है। छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री वृक्ष सम्पदा योजना राज्य सरकार के अधीन 5 साल के अंदर 2 लाख की निजी भूमि पर भवन निर्माण और औषधीय वृक्ष तैयार करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा इस योजना के तहत निजी भूमि पर रजिस्ट्रीकरण के लिए किसानों को 50% छूट दी जाएगी। और साथ ही इसके किसानों को 3 साल तक प्रति दिन 10 हजार रुपये का नुकसान दिया जाएगा। इस योजना के माध्यम से किसानों की आय एवं उत्पादन में वृद्धि होगी। मुख्यमंत्री वृक्षावरम प्रसाद योजना पेड़ तैयार करने के तहत किसानों के पेड़ की लकड़ी होने, छात्र आदि की बिक्री के लिए सरकार की भी भलाई होगी।

मुख्यमंत्री वृक्ष सम्पदा योजना की मुख्य बातें

योजना का नाम मुख्यमंत्री वृक्ष सम्पदा योजना
की शुरुआत हुई मुख्यमंत्री सचिवालय द्वारा
लाभार्थी राज्य के नागरिक
उद्देश्य निजी भूमि पर प्लांटरोपण को बढ़ावा देना आय एवं रोजगार के अवसर को कम करना
लाभ 50% सस्ता और प्रति शेयर 10 हजार रुपये का बोनस
राज्य छत्तीसगढ़
आवेदन प्रक्रिया अन्य
अधिकारिक वेबसाइट सीजीवन.कॉम

मुख्यमंत्री वृक्षसंग्रह योजना का उद्देश्य

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा मुख्यमंत्री वृक्षा रोपण योजना को लागू करना मुख्य उद्देश्य निजी भूमि पर प्लांटरोपण को प्रोत्साहन आधारित उद्यम को बढ़ावा देना, किसानों की आय में वृद्धि करना, रोजगार के अवसरों को बढ़ाना और किसानों पर दबाव बनाना है। ।। इस योजना के माध्यम से किसानों को 50% प्रीमियम ऑफर के लिए कीगे। राज्य सरकार द्वारा वन विभाग द्वारा देश-विदेश की सोसायटी के साथ मिलकर किसानों के लिए बिकाऊ वाॅकल्ट के लिए किसानों द्वारा तैयार की गई। राज्य में नामांकन को प्रोत्साहन दिया जाए और राज्य में हरियाली से पर्यावरण सुरक्षित रहे।

मुख्यमंत्री वृक्षाभूषण योजना की पूरी जानकारी

छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री वृक्ष सम्पदा योजना – राज्य सरकार के 4 साल पूरे हो जाने के अवसर पर छत्तीसगढ़ गौरव दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री वृक्षावरम प्रसाद योजना जारी किया गया है। सरकार ने इस योजना के लिए 100 करोड़ रुपये का बजट तैयार किया है। इस बजट के साथ छत्तीसगढ़ में 1000 करोड़ रुपए का बजट पेश किया गया है।

छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री वृक्ष सम्पदा योजना मुख्यमंत्री ने तकनीकी शिक्षा के क्षेत्र में सुधार लाने के लिए इसे लागू किया ‘स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट आईटीआई योजना’ के अंदर 1200 करोड़ रुपए का बजट बना है। यह योजना लागू होने के बाद छत्तीसगढ़ की जनता के मन में राज्य सरकार के प्रति प्यार और सम्मान की भावना और बहुत अधिक वृद्धि हुई है।

बहुत से लोग कहते हैं कि छत्तीसगढ़ सरकार शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार को बढ़ावा देने के साथ-साथ छत्तीसगढ़ की संस्कृति को आगे ले जाने का काम भी कर रही है। किसान जो पत्रिका में हर किसी के लिए एक योजना बनाते हैं या यूं कहते हैं कि जो हमारे लिए अन्नदाताओं की तरह काम करते हैं उन्हें समृद्ध बनाने के लिए ही यह योजना जारी की गई है।

100 करोड़ रुपये के बजट का प्रस्ताव

मुख्यमंत्री वृक्षावरम प्रसाद योजना राज्य सरकार के अधीन राज्य के नागरिकों को टिशु कालचर विधि के आधार पर सागौन, शीशम, बांस, ग्लेक्टेड, हवेली, चंदन जैसी इमरती और क्रैसिल लक ड्राईर्स वाले रोगियों के उपचार के लिए राज्य सरकार द्वारा अनुमति दी जाएगी। इस योजना के लिए 100 करोड़ रुपये के बजट का प्रावधान किया गया है। सरकार द्वारा 50% किसान को लैपटॉप के लिए दिया जाएगा। और इसके अलावा 3 साल तक प्रति सेकंड 10,000 का बोनस भी। अगर कोई किसान इस योजना के तहत अपनी एक एकड़ जमीन पर एक लाख रुपये खर्च करके समाधान बताता है तो उसे सरकार द्वारा 1 लाख रुपये की सब्सिडी दी जाएगी।

प्राकृतिक पेड़-पौधों के टुकड़े के लिए किसी की आवश्यकता नहीं होगी

मुख्यमंत्री वृक्षावरम प्रसाद योजना शासन के अधीन किसानों की निजी भूमि पर कृषि के रूप में उगे पेड़ों की कटाई का विश्लेषण किया गया है। जिसके अनुसार अब भूमि स्वामी अपनी भूमि पर कृषि के रूप में रोपे गए पेड़ों की कटाई को खुद करवाता है। जिसके लिए उन्हें किसी की भी ज़रूरत नहीं होगी। किसानों को केवल अनुविभागीय अधिकारी राजस्व को पेड़ काटने की सूचना मिलेगी। अगर तो भूमि वन विभाग से भी पेड़ कटवा सकते हैं। अनुविभागीय अधिकारी राजस्व को सामुहिक सहयोग के तहत आवेदन की 45 दिन की प्रक्रिया निर्धारित की जाएगी।

इस योजना के तहत बिल्डिंग वुड का कोटा होगा

वन विभाग के अधिकारियों द्वारा बताया गया है कि वर्तमान में भारत में 60,000 करोड़ रुपये की बिल्डिंग लकड़ी का आयात किया जाता है। जिसका 10% हिस्सा छत्तीसगढ़ में आता है। सरकार ने काष्ठ आधारित कंपनी की स्थापना पर भी काम शुरू कर दिया है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री चुपलाची ने 17 दिसंबर को गौरव दिवस के अवसर पर व्यवसायिक उपयोग को बढ़ावा देने की बात कही। मुख्यमंत्री वृक्षावरम प्रसाद योजना को लागू कर दिया गया है.

मुख्यमंत्री वृक्षाभूषण योजना के लाभ एवं विशेषताएं

  • राज्य के नागरिकों को अपनी निजी भूमि पर व्यवसायिक नामांकन के लिए आवेदन पत्र जारी करने के लिए मुख्यमंत्री वृक्षा रोपण योजना शुरू की गई है।
  • इस योजना के माध्यम से राज्य के निवासियों को लकड़ी का उपयोग करने के लिए सरकार द्वारा प्रेरित किया जाएगा। किसानों को खेती से ही आय प्राप्त होती है।
  • मुख्यमंत्री वृक्षावरम प्रसाद योजना के माध्यम से लकड़ी से संबंधित कंपनी को बढ़ावा दिया जाएगा।
  • इस योजना के तहत किसानों को निजी भूमि पर रजिस्ट्री के लिए सरकार द्वारा 50% छूट दी जाएगी।
  • छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा किसानों को 3 साल तक प्रति माह 10,000 रुपये की योजना के तहत बढ़ावा दिया जाएगा।
  • योजना के अंतिम कार्यान्वयन के लिए 100 करोड़ रुपये के बजट का प्रस्ताव रखा गया है।
  • मुख्यमंत्री वृक्ष संरक्षण योजना के अंतर्गत राज्य सरकार द्वारा 5 वर्ष के भीतर 2 लाख एकड़ निजी भूमि पर भवन एवं औषधीय वृक्ष तैयार करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।
  • अब भूमि स्वामी अपनी भूमि पर कृषि के रूप में रोपे गए पेड़ों की कटाई को खुद करवाता है। जिसके लिए उन्हें किसी की भी ज़रूरत नहीं होगी।
  • इस योजना के माध्यम से राज्य में रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।
  • किसानों की उपज में वृद्धि हो सकती है।
  • मुख्यमंत्री वृक्षावली संरक्षण योजना के अंतर्गत वृक्षों की लकड़ी, छात्र आदि बिकवाने का कार्य सरकार द्वारा तैयार किया जाएगा।
  • इस योजना के लागू होने से न केवल वृक्ष उपचार, हरियाली में समृद्धि होगी बल्कि राज्य के क्षेत्र में भी अजीविका का साधन होगा।

मुख्यमंत्री वृक्ष सम्पदा योजना के लिए पात्रता

  • मुख्यमंत्री वृक्षावली संरक्षण योजना के लिए छत्तीसगढ़ के मूलनिवासी पात्र होंगे।
  • इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए सभी वर्गों के नागरिक पात्र होंगे।
  • 18 वर्ष से अधिक की आयु होनी चाहिए।

मुख्यमंत्री वृक्षाभूषण योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • थोक प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • बैंक खाता विवरण
  • जमीन दस्तावेज़
  • पासपोर्ट आकार फोटो
  • मोबाइल नंबर

मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना के लिए आवेदन कैसे करें?

  • मुख्यमंत्री एवं आपूर्ति योजना इसके तहत आवेदन करने के लिए सबसे पहले आपको अपने एस्ट्रॉल वन विभाग कार्यालय में जाना होगा।
  • वहां आपको संबंधित अधिकारी से आवेदन फॉर्म प्राप्त करना होगा।
  • आवेदन फॉर्म प्राप्त करने के बाद फॉर्म में मांगी गई आवश्यक जानकारी पर ध्यान देते हुए आपको इसे दर्ज करना होगा।
  • सभी जानकारी दर्ज करने के बाद आपको आवश्यक दस्तावेज फॉर्म के साथ संलग्न करना होगा।
  • साड़ी प्रक्रिया पूरी करने के बाद आपको यह आवेदन फॉर्म वहीं जमा कर देना होगा जहां से आपने प्राप्त किया था।
  • इस प्रकार आप इस योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

सारांश (सारांश)

हमने अपने लेख में मुख्यमंत्री वृक्ष सम्पदा योजना से संबंधित सभी कनेक्शनों का विस्तार से उल्लेख किया है, यदि आपको कोई जानकारी पसंद है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बता सकते हैं या इससे संबंधित कोई भी प्रश्न या जानकारी आपको मिल सकती है तो आप हमें मैसेज कर सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब जरूर देंगे।

मुख्यमंत्री वृक्ष सम्पदा योजना (एफएक्यू)?

मुख्यमंत्री वृक्षाच्छादित वृक्षारोपण योजना कब लागू हुई ?

छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री वजीर पटेल जी ने!

मुख्यमंत्री वृक्ष संरक्षण योजना के तहत कितना बजट तैयार किया गया है?

100 करोड़ रुपये!

स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट आईटीआई योजना के तहत कितने रुपये खर्च किये जायेंगे?

1000 करोड़ रुपये!

मुख्यमंत्री वृक्षाच्छादित वृक्षारोपण योजना का उद्देश्य क्या है?

मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना का उद्देश्य निजी स्वामित्व एवं लकड़ी से संबंधित उद्योग को बढ़ावा देना है।

Leave a Comment